छतरपुर

बहुजन समाजपार्टी के प्रदेश प्रभारी सुमरत सिंह ने कहा है कि आजादी के 66 साल बाद भी गरीबों की समस्याएं हल नहीं हुई। उन्होंने कहा कि इस दौरान कांग्रेस और भाजपा सत्ता में रही पर उन्होंने गरीबों के लिये कछ नहीं किया। दोनों ही पार्टियों की विचारधार और नीति में कोई फर्क नहीं है, क्योंकि वे चोर-चोर मौसेरे भाई है। श्री सिंह आज दोपहर मेला ग्राउण्ड में बहुजन समाजपार्टी के कार्यकर्ता सम्मेलन मे मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। इस अवसर पर बसपा प्रदेश अध्यक्ष आईएस मौर्य बसपा विधायक दल के नेता कहा कि पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने के लिये ये घोटाले के कारण ही मंहगाई बढ़ी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और भाजपा ने सरकारी उपक्रमों को खत्म कर निजी क्षेत्रों को बढ़ावा दिया जिससे नौकरियो  के मौके कम हो गये। उन्होंने कहा कि उनके शासन में अमीर ही आगे बढ़े और बरीग नहीं। इन्होंने बेरोजगारी की लाईन की लम्बा करने का काम किया है। यहां तक कि बैकलॉक के पद तक पूरी नहीं भरे गये । उन्होंने कहा कि इन समस्याओं से निपटने के लिये कांग्रेस और भापजा को खत्म करना होगा।

इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष श्री मोर्य ने कहा कि जब शिवराज सिंह  यहां जनआर्शी्रवाद यात्रा लेकर आय तो उनसे यह जरूर पूछे कि उन्होंने गरीब के बच्चों के मिड-डे मील के नाम पर कटोरा पकड़ाने का काम क्यों किया है। श्री मोर्य ने कहा है कि बहुजन समाज ने डॉक्टर अम्बेडर की उंगली का इशारा नहीं समझा इसलिये आज उनके हालात खराब है। भाजपा और कांगे्रेस नेद धर्म, जाति और सम्प्रदाय के नाम पर बहुजन समाज को बेबकूफ बनाया लेकिन अब जनता परिवर्तन चाहती है। वह सस्से, गेंहू, चावल और नमक के झांसे में आने वाली नहीं है।  उन्होंने उमा भारती को मुख्यमंत्री पद से हटाये जाने के मामले पर भी भाजपा को आड़े-हांथों लिया और लोधी समाज को इसके लिये भाजपा से बदला लेने की नसीहत दी।

न्यूज़ सोर्स : agency