माता-पिता के झगड़े से परेशान होकर 13 वर्षीय छात्र ने की आत्महत्या
पिछले कुछ समय से शहर में आए दिन आत्महत्या के मामले सामने आ रहे है, जिनमें से कई मृतक नाबालिग बच्चे हैं। कहीं छोटी-छोटी बातों से गुस्सा होकर तो कहीं परिवार की समस्याओं और तो और कई मामलों में तो घर में पारिवारिक झगड़े से तंग आकर आत्महत्या जैसे मामले सामने आये हैं। ताजा मामला सूबे के अलथाण में सामने आया है। जहाँ एक तेरह साल के बच्चे ने सिर्फ इसलिए आत्महत्या कर ली क्योंकि उसके माता-पिता रोज झगड़ा करते थे।

जानकारी के अनुसार, अलथाण के सुमन अमृत में रहने वाले अमित सिंह के बेटे शिवांश कुमार (13) ने शनिवार को घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बेटे के पिता अमित सिंह पेशे से लेबर कॉन्ट्रैक्टर हैं। वह किसी प्रोजेक्ट के तहत मध्य प्रदेश के रीवां में घर बनवाने के सिलसिले में गए हुए थे तो वहीं मां पास के ही एक मॉल में नौकरी करती है।

बताया जा रहा है कि घटना के दौरान घर में कोई नहीं था। वह सातवीं का छात्र था और पढ़ने-लिखने में होशियार था। लॉकडाउन के बाद से ही वह घर पर ही रहता था और ऑनलाइन पढ़ाई करता था। वहीं, बेटे की मौत की जानकारी मिलते ही वह सूरत के लिए रवाना हो गए हैं।

घटना के बाद, बच्चे के द्वारा लिखा सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है, जिसमें उसने लिखा है कि, मम्मी-पापा, प्लीज झगड़ा मत करना, अच्छे से रहना। मैं आपके लिए कुछ नहीं कर सकता। वहीं, पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया। पीएम के बाद शव को कोल्ड रूम में रखा गया है। पिता के गांव से आने के बाद अंतिम संस्कार किया जाएगा। इस घटना के बाद से डॉक्टर भी हैरान हैं। डॉक्टरों ने कहा कि, देश में कोरोना के कारण लॉकडाउन जैसी स्थिति बनी थी, जिसके बाद बच्चे अपनों ने बीच रहे, वहीं इससे कई पारिवारिक झगड़े भी हुए। माता-पिता के झगड़े से बच्चे अक्सर दुखी रहते हैं। लेकिन वह अपनी बात किसी से कह नहीं पाते।

आपको बता दें कि, पिछले 15 दिनों में आत्महत्या के पांच मामले सामने आये हैं, जिनमें अधिकतर मृतक छात्र-छात्राएं हैं।