पहले अधिकारियो ने शासकीय भवन में शराब दुकान लगाने दी स्वीकृति, 4 दिन बाद मेरिज गार्डन का लॉलीपाप

जनता, जनप्रतिनिधियों और न्यायालय को गुमराह करते अधिकारी, शासकीय भवन में मंदिर और एससी/एसटी बालिका छात्रावास के समीप चल रही शराब दुकान

राजगढ़-जिले में प्रशासन की मेहरबानी से एक तथाकथित शराब ठेकेदार द्वारा नगर की फिजा खराब करने मंदिर और अनुसूचित जाति/जनजाति बालिका छात्रावास के समीप शासकीय भवन में शराब दुकान संचालित की जा रही है जिसमे जनता के साथ न्यायालय को भी गुमराह किया जा रहा है!

क्या है मामला—

मामला है नगर के खरला नाला स्थित जिला पंचायत के पुराने भवन दूध डेयरी का, जहा नियमो को दरकिनार करते हुए आमजन के विरोध को नजर अंदाज कर शराब दुकान संचालित की जा रही है, जिसका सामाजिक संगठनो सहित अनुसूचित जाति/जनजाति, एबीवीपी के युवाओं द्वारा विरोध दर्ज कराया गया लेकिन भ्रस्टाचार के चश्मे से जिम्मेदारो को यह नजर नहीं आ सका!

अधिकारी करते रहे गुमराह-

इस पूरे मामले में जिम्मेदार अधिकारी जनता को गुमराह करते नजर आये क्योंकि 13 अप्रैल को जिला कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में कलेक्टर, एसपी, जिला पंचायत सीईओ और आबकारी अधिकारी ने बैठक में शासकीय भवन में शराब दूकान लगाने स्वीकृति दे दी कि यदि इसका विरोध होता है या जिला पंचायत की सक्षम सभा अनुमोदन नहीं करती है तो हटा ली जायेगी लेकिन किसी को कोई विरोध नजर नहीं आया!

उल्लेखनीय है कि 4 दिन बाद ही जिला पंचायत की साधारण सभा की बैठक में 17 अप्रैल को प्रस्ताव पारित किया गया जिसके तहत उक्त स्थल पर मैरिज गार्डन हेतु डीपीआर तेयार कर तकनीक एवं प्रशासकीय स्वीकृति जारी करने के निर्देश जारी किये गए लेकिन जिला पंचायत सीईओ जो 4 दिन पहले शराब दूकान की स्वीकृति के लिए हस्ताक्षर किये थे और जिला पंचायत की बैठक में अनभिज्ञ बने रहे!

जनप्रतिनिधियों ने भी चुप्पी साधी-

जनता ने जिन्हें प्रतिनिधित्व करने का मौका दिया वो जनप्रतिनिधि भी जनहित के इस मुद्दे से छुटपुट विरोध के बाद चुप्पी साधते नजर आये जो जिलेभर में चर्चा का विषय है बना हुआ है और जनता उन्हें कोसती नजर आ रही है!

सामाजिक संगठनो ने दी चेतावनी-

उक्त स्थल के समीप मंदिर और अनुसूचित जाति/जनजाति बालिका छात्रावास संचालित है, जिसके बावजूद जिम्म्मेदारो की ठेकेदार पर मेहरबानी से नाराज हिन्दू आश्रम मुंबई के आचार्य जितेन्द्र जी महाराज, डॉ आंबेडकर रास्ट्रीय युवा संघ के संभागीय संयोजक राजेश गढ़वाल, रास्ट्रीय अनुसूचित जाति/जनजाति युवा संघ के जिला अध्यक्ष कैलाश वर्मा बबलू ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए चेतावनी दी है कि यदि 4 मई तक प्रशासन शराब दूकान नहीं हटाता है तो जनहित में उग्र आन्दोलन किया जाएगा जिसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होग