बाबरा मोहल्ला में 32 वर्षीय सचिन ने सोमवार सुबह करीब 7 बजे चुन्नी से पंखे पर फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया। सचिन अपनी कार को टैक्सी में चलाता था। सचिन के भाई नितिन ने सचिन की पत्नी और ससुरालियों पर उसे आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया है। परिजनों के अनुसार दो दिन पहले भी ससुरालियों ने सचिन के साथ मारपीट की थी। झगड़े में सचिन के सिर और हाथ पर चोट लगी हुई है।

पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए पीजीआई के शवगृह में रखवा दिया। नितिन के बयान पर सचिन की पत्नी पूजा, साले मोनू और पत्नी के मामा पिंका के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का केस दर्ज कर लिया है। पुलिस आरोपियों की जांच में लगी हुई है।

बाबरा मोहल्ला निवासी नितिन शर्मा ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसके छोटे भाई सचिन ने सल्लारा मोहल्ला निवासी पूजा के साथ करीब 5 वर्ष पहले प्रेम विवाह किया था। विवाह के बाद उसके भाई के पास एक 3 वर्षीय बेटा है। शादी के बाद से ही सचिन और पूजा में आपसी विवाद रहता था। 21 अगस्त को सचिन के साथ पूजा झगड़ा करके अपने मायके चली गई। 22 अगस्त को सचिन पूजा को लेने उसके मायके गया।

आरोप है कि वहां पर सचिन के साथ उसकी पत्नी पूजा, उसके भाई मोनू और पूजा के मामा पिंका पंडित ने मारपीट की। इस संबंध में थाना पुरानी सब्जी मंडी पुलिस को शिकायत दी गई है। नितिन का कहना है कि झगड़े के बाद से नितिन मानसिक रूप से परेशान था। उसने अपनी पत्नी और ससुरालियों से परेशान होकर सोमवार को फंदा लगा लिया। सोमवार सुबह करीब साढ़े 7 बजे उनके घर पर पोस्टमैन आया तो उसने सचिन को आवाज लगाई।

सचिन कमरे से बाहर नहीं आया तो परिजनों ने कमरे की खिड़की से अंदर देखा तो सचिन फंदे पर लटका मिला। मामले के बारे में पुलिस को सूचित किया गया। सचिन ने जिस कमरे में फंदा लगाया उसके सामने ही उसके बच्चे का फोटो लगा हुआ था। भाई नितिन ने बताया कि सचिन को अपने बच्चे से बहुत लगाव था। वह अक्सर उसे घुमाने ले जाता था। कई बार उसके कपड़े भी खुद धोता था।