नयी दिल्ली, गृहमंत्री अमित शाह ने विभिन्न कार्यक्रमों को लेकर दिल्ली सरकार द्वारा मीडिया में दिए जा रहे विज्ञापनों को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आड़े हाथ लेते हुए शनिवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के लोगों को अहसास हो गया है कि कौन वास्तव में विकास कार्य करता है और कौन केवल जुबानी जमा खर्च करता है।
 दक्षिण दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) द्वारा कबाड़ से विकसित '' भारत दर्शन' पार्क का उद्घाटन करते के बाद शाह ने कहा कि दिल्ली की तीनों भाजपा शासित नगर निगमों की वजह से मोदी सरकार राष्ट्रीय राजधानी में कल्याणकारी कार्यक्रम चला पा रही है।

गृह मंत्री ने कहा कि देश में दो तरह की कार्य संस्कृति है। उन्होंने कहा कि एक शांति से विकास कार्य करने की है, जैसे लोगों को मुफ्त टीका मुहैया कराना, प्रशासनिक सुधार, नयी शिक्षा नीति लागू करना, शहरी विकास कार्यक्रम, 60 करोड़ गरीबों को मुफ्त आवास, बिजली, गैस आदि के दायरे में लाना आदि है।

शाह ने कहा, ''दूसरी है करो या न करो, विज्ञापन दो, टीवी साक्षात्कार दो। दिल्ली की जनता को अहसास हो गया है कि कौन वास्तव में विकास कार्य करता है और कौन जुबानी जमा खर्च करता है।''

दिल्ली के नगर निकायों की उनकी कल्याणकारी कार्यक्रमों के लिए प्रशंसा करते हुए शाह ने कहा कि अगर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल नीत आम आदमी पार्टी की सरकार तीनों नगर निगमों का 13 हजार करोड़ रुपये का बकाया दे देती तो वे और काम कर सकते थे।

उन्होंने कहा, ''मैं केजरीवाल से कहना चाहता हं कि अगर नगर निगमों को 13 हजार करोड़ रुपये का बकाया दे दिया जाता, वे लोगों के लाभ के लिए और काम कर सकते थे।''

मोदी सरकार द्वारा किए गए विकास कार्यों को गिनाते हुए शाह ने कहा कि अबतक कोविड रोधी टीके की 130 करोड़ खुराक दी जा चुकी है, कोविड-19 महामारी शुरू होने के बाद से करीब 80 करोड़ गरीबों को हर महीने 25 किलोग्राम मुफ्त अनाज दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि कई लोग भाजपा का मखौल उड़ाते हुए कहते थे कि ''मंदिर वहीं बनाएंगे लेकिन तिथि नहीं बताएंगे। लेकिन अब सभी ने देखा है कि नरेंद्र मोदी की पहल से अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण हो रहा है।