भोपाल.सागर (Sagar) में बाल संप्रेक्षण गृह से भागे 5 बाल अपचारियों का अब तक कोई सुराग नहीं लगा है. हालांकि संप्रेषण गृह में लगे सीसीटीवी कैमरे (cctv camera) ने उनकी हर हरक़त क़ैद कर ली थी, लेकिन उससे भी इन अपचारियों को ढूंढ़ने में कोई मदद नहीं मिल पा रही है.
सागर के बाल संप्रेक्षण गृह के सुरक्षा इंतजामों को धता बताकर 5 बाल अपचारी रविवार को फरार हो गए थे.बाल आरोपी सुधार गृह के पीछे के गेट का ताला दिन दहाड़े खोल कर भागे हैं.
गेट का ताला खोलकर भागे
पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद होने के बाद भी अब तक बाल अपचारियों को सागर पुलिस तलाश नहीं सकी है.ये घटना तक घटी जब बाल सुधार गृह में इन अपचारियों के सुबह के नाश्ते का समय था. स्टाफ इन्हें नाश्ता दे रहा था उसी दौरान ये 5 अपचारी संरक्षण गृह के पीछे के गेट में लगा ताला खोलकर वहां से भाग निकले. अपचारियों ने ताले को बकायदा चाभी से खोला.घटना की सूचना मिलते ही जिला प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे और घटना स्थल का जायजा लिया.घटना को 36 घंटे हो चुके हैं, लेकिन अभी तक ना तो बच्चे हाथ लगे न ही सुरक्षा में कोताही बरतने वाले ड्यूटी स्टाफ पर कार्रवाई की गयी.
चार माह में दूसरी घटना
ये पहला मामला नहीं है जब सागर में राजघाट के पास स्थित बाल संप्रेक्षण गृह से बाल अपचारी फरार हुए हैं.चार माह में ये दूसरी घटना है. चार महीने पहले भी बाल अपचारी यहां से भाग निकले थे.
सीसीटीवी में करतूत क़ैद
बाल अपचारियों के भागने की घटना वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में क़ैद हुई है. लेकिन उससे कोई मदद नहीं मिल पा रही है. पुलिस अभी तक बच्चों का सुराग नहीं लगा पायी है. अब सीसीटीवी फुटेज खंगाला गया कि आखिर घटना के वक्त सुधार गृह के पीछे कोई मौजूद था या नहीं.

सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल
​घटनास्थल का जायजा लेने के बाद अधिकारियों ने लापरवाही बरतने वाले स्टाफ को जमकर फटकार भी लगाई. 4 महीने में दूसरी बार बाल संप्रेषण गृह ब्रेक होने से वहां की सुरक्षा व्यवस्था पर भी कई सवाल खड़े हो रहे हैं. आखिर बाल कैदियों के पास पीछे के दरवाजे की चाभी कहां से पहुंची.जब चार महीने पहले ऐसी घटना हो चुकी थी तो सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त क्यों नहीं की गई.सुधार गृह में चौकसी क्यों नहीं बढ़ाई गयी.