अहमदाबाद | भारत सरकार के साथ मिलकर गुजरात सरकार ने राज्य से बुधवार की मध्य रात्रि तक 633 श्रमिक स्पेशल ट्रेन से करीब 9.18 लाख से ज्यादा प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्य भेज दिया है| बुधवार को एक ही दिन में सबसे अधिक 71 श्रमिक स्पेशल ट्रेन गुजरात से अन्य राज्यों के लिए रवाना की गईं| मुख्यमंत्री के सचिव अश्विनी कुमार ने बताया कि प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्य पहुंचाने के लिए 20 मई की मध्यरात्रि तक देशभर में कुल 2023 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें विभिन्न राज्यों से रवाना हुईं| जिसमें 633 ट्रेन इकलौते गुजरात से रवाना की गईं| इन 633 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के मार्फत गुजरात से 9.18 लाख प्रवासी श्रमिकों को सुरक्षित उनके गृह राज्य पहुंचाया गया| गुजरात एक ऐसा राज्य है, जहां सबसे अधिक श्रमिक ट्रेन चलाई गईं| 20 मई को एक ही दिन में 71 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें देश के विभिन्न राज्यों के श्रमिकों को लेकर गुजरात से रवाना हुईं| उन्होंने कहा किदेशभर में कुल 2023 ट्रेनों में से गुजरात से 633, महाराष्ट्र से 371, पंजाब से 247, कर्नाटक से 125, उत्तर प्रदेश से 97, तेलंगाणा से 79, राजस्थान से 74, बिहार से 48, दिल्ली से 89, आंध्र प्रदेश से 39, छत्तीसगढ़ से 3, गोवा से 14, हरियाणा से 54, जम्मू-कश्मीर से 3, झारखंड से 2, केरल से 36, मध्य प्रदेश से 7, पोंड्डीचेरी से 1, पंजाब से 247, तमिलनाडु से 91, उत्तराखंड से 6 और पश्चिम बंगाल से 1 ट्रेन चलाई गई| गुजरात से 20 मई की मध्य रात्रि तक जो 633 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें रवाना हुईं, उसमें उत्तर प्रदेश के लिए 438, बिहार के लिए 94, उड़ीसा के लिए 38, मध्य प्रदेश के लिए 26, झारखंड के लिए 20, छत्तीसगढ़ के लिए 8, पश्चिम बंगाल के लिए 2, महाराष्ट्र के लिए 1, मणीपुर लिए 1, राजस्थान के लिए 1, उत्तराखंड के लिए 50, जम्मू-कश्मीर के लिए 1 और तमिलनाडु के लिए 1 ट्रेनों से प्रवासी श्रमिक अपने गृह राज्य रवाना हुए| अब 21 मई की मध्य रात्रि के तक गुजरात के अलग अलग जिलों से 64 ट्रेन के जरिए 1.1 लाख प्रवासी मजदूर अपने गृह राज्य उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़ और तमिलनाडु इत्यादि के लिए रवाना होंगे| 64 ट्रेनों में 25 ट्रेन उत्तर प्रदेश, 30 ट्रेन बिहार, 4 ट्रेन झारखंड, 2 ट्रेन तमिलनाडु और 3 ट्रेन छत्तीसगढ़ के श्रमिकों को लेकर गुजरात से रवाना होंगी|