बुलेट बाइक के पटाखे बजाने से रोका तो तेजधार हथियार से युवक पर हमला कर दिया। जो बचाव करने आए युवक के बड़े भाई की गर्दन पर लगा। हमले में घायल युवक ने अस्पताल पहुंचने से पहले दम तोड़ दिया। मामला भिवानी के गांव मानहेरू का है। पुलिस ने मृतक के भाई की शिकायत पर 12 नामजद व अन्य के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है।
मामला गुरुवार सुबह करीब नौ बजे का है। मानहेरू गांव में बिजेंद्र अपने घर के पास कार्य कर रहा था। बिजेंद्र ने बताया कि उनके पड़ोस का ही युवक अपने दो साथियों के साथ बुलेट बाइक से गली से गुजरा और बाइक के पटाखे बजाए। जिससे उनकी भैंस भड़क गई। बताया कि उसने पड़ोसी सचिन को ऐसा करने पर रोका फिर भी सचिन दोबारा आया और फिर बाइक के पटाखे बजाए। इस पर कहासुनी हुई।

हाथापाई भी हुई और सचिन, उसके और साथियों ने उसके साथ मारपीट की। बाद में उसका बड़ा भाई अजय आया और उसे छुड़वाया। झगड़े के बाद उसे घर भेज दिया। सचिन और उसके साथी भी चले गए। करीब 10 मिनट बाद सचिन सात-आठ अन्य युवकों और दो-तीन महिलाओं के साथ उनके घर आकर तेज आवाज में अजय को बुलाया।

27 वर्षीय अजय कमरे से बाहर आया तो उस पर तेजधार हथियार से हमला कर मारपीट की। जिससे अजय की गर्दन से खून बहने लगा। परिजन अजय को अस्पताल ले जा रहे थे तभी रास्ते में उसकी मौत हो गई। बिजेंद्र ने बताया कि हमलावर एक गाड़ी में बैठकर मौके से फरार हो गए। अजय गाड़ी चलाता है।
सूचना के बाद सदर थाना पुलिस अस्पताल और गांव पहुंची लेकिन तब तक आरोपी भाग चुके थे। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस अधीक्षक ने तीन टीमें बनाई है, जो मानहेरू व अन्य ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। कुछ संदिग्ध हिरासत में भी लिये गए है।

इनके खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा
पुलिस ने बिजेंद्र की शिकायत पर 12 नामजद व अन्य के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है। सदर थाना प्रभारी राकेश सैनी ने बताया कि शिकायत पर सचिन, हरिश, अंकित, रवींद्र, संदीप, मुकेश आदि 12 के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए तीन टीमें छापामारी कर रही है। जल्द उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा।

बिजेंद्र को मारने आए थे, अजय को मार दिया
बाइक से पटाखे बजाने पर युवकों को बिजेंद्र ने टोका था। मृतक के चचेरे भाई दीपक ने बताया कि उसके पास पड़ोसी युवक सचिन ने फोन कर धमकी दी कि तेरे भाई बिजेंद्र ने उसे गालियां दी है और झगड़ा किया है। उसे छोड़ेंगे नहीं। दीपक ने बताया कि उसने सचिन को कहा था कि वह बिजेंद्र को समझा देगा। मगर थोड़ी देर बाद ही फोन आया कि अजय की हत्या कर दी गई है। आरोपियों ने फोन पर बिजेंद्र को मारने की धमकी दी थी और वे घर पर बिजेंद्र को मारने आए थे लेकिन हमलावरों ने अजय पर ही हमला कर दिया।

दो बच्चों के सिर से उठ गया पिता का साया
मृतक अजय के घर 11 दिन पहले ही खुशियां आई थी। उसके छोटे भाई बिजेंद्र की आठ दिसंबर को शादी हुई थी। जिससे घर में खुशी का माहौल था। गुरुवार सुबह हुई वारदात से सारी खुशियां मातम में बदल गई। मृतक अजय की पांच साल पहले शादी हुई थी। उसे चार वर्षीय बेटी और करीब दो वर्ष का बेटा है। वारदात के बाद मृतक अजय की पत्नी सरिता बेहोश हो गई। उसे भी अस्पताल ले जाया गया। जहां उसका उपचार चल रहा है।