अमरोहा: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 29 दिसंबर को अमरोहा जिले में कई विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया. इस मौके पर अपने संबोधन में उन्होंने विपक्षी पार्टियों खासकर समाजवादी पार्टी पर जमकर निशाना भी साधा.

मुख्यमंत्री योगी ने अपनी सभा में आई जनता से पूछा, ''पिछली सरकारें कांवड़ यात्रा पर रोक लगाती थीं ना, अब कांवड़ यात्रा निकलती है ना, अब तो कोई रोक-टोक नहीं है ना?'' इस पर जनता ने हामी भरी. इसके बाद सीएम योगी ने पूछा, ''क्या कांवड़ यात्रा समाजवादी पार्टी की सरकार निकालती? क्या कांग्रेस या बसपा की सरकारों में निकालती? दंगाइयों के खिलाफ कार्रवाई करने की हिम्मत सपा, बसपा, कांग्रेस में थी क्या?''

इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनसभा में मौजूद लोगों को याद दिलाया कि कैसे भारतीय जनता पार्टी की सरकार में सनातन आस्था से जुड़े तीर्थ स्थलों, मंदिरों इत्यादि का फिर से जीर्णोद्धार हो रहा है. उन्होंने कहा, ''हमने कहा था अयोध्या में प्रभु राम के भव्य मंदिर निर्माण का कार्य प्रारंभ कराएंगे, मोदी जी ने कार्य प्रारंभ करा दिया है ना? काशी में भगवान विश्वनाथ का धाम भी भव्य रूप से बन रहा है. फिर मथुरा-वृंदावन कैसे छूट जाएगा? वहां पर भी काम भव्यता के साथ आगे बढ़ चुका है. हमने बृज तीर्थ विकास परिषद गठित करके वहां पर भी विकास कार्यों को एक नई गति देनी प्रारंभ कर दी है.''

अपने संबोधन में मुख्यमंत्री योगी ने आगे कहा, ''हमने आस्था का सम्मान किया, गरीब के लिए मुफ्त राशन की व्यवस्था की, सबको मुफ्त में वैक्सीन दी, नौजवानों को नौकरी दी. पहले नौकरी निकलती थी तो समाजवादी पार्टी की सरकार में चाचा भी, भतीजा भी और महाभारत के सभी रिश्ते वसूली के लिए निकल पड़ते थे. हमारी सरकार आने के बाद किसी विभाग में नियुक्ति होती है तो नौजवानों के साथ कोई भेदभाव नहीं होता है. समाजवादी पार्टी के लिए अपना परिवार ही प्रदेश था, बहन जी के लिए भी अपना परिवार ही प्रदेश था. कांग्रेस का कोई रहनुमा ही नहीं था. हमारे लिए उत्तर प्रदेश की 25 करोड़ की आबादी ही परिवार है.''