अहमदाबाद | गुजरात में खासकर अहमदाबाद में कोरोना के केसों की बढ़ोत्तरी को देखत हुए शहर के बाग-बगीचों को दिन में केवल चार घंटे खुले रखने का महत्वपूर्ण फैसला किया गया है| अहमदाबाद महानगर पालिका के बाग बगीचे विभाग की ओर से बताया गया कि कर्फ्यू के समय को ध्यान में रखते हुए शहर के गार्डन को सुबह-शाम दो-दो घंटे खुले रखने का फैसला किया गया है| कोरोना मामलों को लेकर आयोजित समीक्षा बैठक में राज्य के अतिरिक्त सचिव राजीव गुप्ता ने यह फैसला किया है| कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए अहमदाबाद समेत सूरत, वडोदरा और राजकोट में रात्रि कर्फ्यू लगाया गया है| अब अहमदाबाद के छोटे-बड़े समेत करीब ढाई सौ जितने गार्डन दिन में केवल 4 घंटे के लिए खुले रहेंगे| रात्रि कर्फ्यू के बाद सुबह 7 बजे से 9 बजे तक और शाम 5 बजे से 7 बजे के दौरान अहमदाबाद के बाग-बगीचे खुले रहेंगे| गौरतलब है दिपावली से पहले बाजारों में भीड़भाड़ और लोगों की लापरवाही का खामियाजा आज पूरे अहमदाबाद को भुगतना पड़ रहा है| नवंबर की शुरुआत में गुजरात में कोरोना का ग्राफ नीचे जा रहा था, जो दिवाली आते आते और उसके बाद तेजी से बढ़ने लगा है| दिवाली के पहले गुजरात में कोरोना का एक दिन का आंकड़ा 900 के नीचे पहुंच गया था जो दीपावलीके बाद 1500 को पार कर गया है| दिल्ली से आई केन्द्रीय टीम ने माना कि प्रशासन की नहीं बल्कि लोगों की लापरवाही के कारण गुजरात में कोरोना का कहर बढ़ा है| कोरोना का सबसे अधिक कहर अहमदाबाद में जहां रोज के 300 से अधिक कोरोना संक्रमित मरीज सामने आ रहे हैं|