अपने बयानों से अक्सर चर्चा में रहने वाले शिवसेना सांसद संजय राउत ने बुधवार को दावा किया पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, अंडरवर्ल्ड डॉन करीम लाला से मुंबई में मिलती थीं। राउत ने अपने दावे में कहा कि इंदिरा गांधी करीम लाला से दक्षिणी मुंबई के पायधोनी में मुलाकात करती थीं।

 

मुंबई में एक मीडिया समूह के कार्यक्रम के दौरान उन्होंने यह दावा किया। इस मामले पर कांग्रेस के प्रवक्ता ने कहा कि वह राउत के बयान को देखने के बाद ही कोई प्रतिक्रिया देंगे। मालूम हो कि राउत की पार्टी राज्य में एनसीपी और कांग्रेस के साथ गठबंधन की सरकार चला रही है। 

राउत ने कहा कि साठ से अस्सी के दशक की शुरुआत तक मुंबई के अंडरवर्ल्ड में करीम लाला, मस्तान मिर्जा उर्फ हाजी मस्तान और वर्दराजन मुदालायर तीन डॉन हुआ करते थे। वे तय करते थे कि मुंबई पुलिस का कमिश्नर कौन होगा और कौन राज्य सचिवालय में बैठेगा। जब हाजी मस्तान मंत्रालय आता तो पूरा सचिवालय उसे देखने के लिए काम छोड़कर नीचे चला आता था। 

राउत ने मुंबई में अंडरवर्ल्ड के दिनों को याद करते हुए कहा एक समय मुंबई में अंडरवर्ल्ड का राज हुआ करता था, आज यहां अंडरवर्ल्ड जैसा कुछ नहीं है। दाऊद इब्राहिम, छोटा शकील और शरद शेट्टी जैसे गैंगस्टर महानगर और आसपास के क्षेत्रों पर नियंत्रण रखते थे।

बाद में सब देश छोड़कर फरार हो गए। एक समय पत्रकार रहे राउत ने दावा किया कि उन्होंने दाऊद इब्राहिम जैसे कई गैंगस्टरों की फोटों भी ली थी इसके साथ ही एक बार उन्होंने एक गैंगस्टर को फटकार भी लगाई थी। 

दाऊद से मुलाकात 

इस दौरान राउत ने एक चौंकाने वाला खुलासा करते हुए बताया कि मैंने 1993 मुंबई सीरियल धमाके में प्रमुख आरोपी दाऊद इब्राहिम से भी मुलाकात की थी और उसे लताड़ लगाई थी। उन्होंने कहा कि एक वक्त था जब दाऊद इब्राहिम, छोटा शकील, शरद शेट्टी तय करते थे कि मुंबई का पुलिस कमिश्नर कौन होगा, कौन मंत्रालय में बैठेगा। इंदिरा गांधी करीम लाला से मुलाकात करती थीं। हमने उस वक्त का अंडरवर्ल्ड देखा है। अब तो बस चिल्लर रह गया है।