जयपुर. प्रदेश के तीन विधानसभा चुनाव से पहले सियासत तेज हो गई है. आज यानि मंगलवार को भाजपा मुख्यालय पर कांग्रेस सरकार के खिलाफ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने ब्लैक पेपर जारी किया है. इस मौके पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने अधिकारियों चेताया है, उन्होंने कहा कि चार दिन की चांदनी, फिर क्या करेंगे. उन्होंने कहा कि भाजपा ने तीनों उपचुनाव निष्पक्ष  करवाने को लेकर राज्यपाल से मिलकर अर्द्ध सैनिक बलों को तैनात करने की मांग करेंगी.सतीश पूनिया ने आरोप लगाया कि यह चुनाव राजनीति पार्टी नही बल्कि प्रशासनिक अधिकारी लड़ रहे हैं, पूनियां ने अधिकारियों और कर्मचारियों को चेताया कि चार दिन की चांदनी उसके बाद अधिकारी क्या करेंगे. प्रदेश की तीन विधानसभा चुनावों के लिए 17 अप्रैल को मतदान होने से पहले प्रदेश में आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी है.

30 बिंदु शामिल  किए गए ब्लैक पेपर में
भाजपा ने 30 बिदुओं में ब्लैक पेपर जारी कर सरकार के कामकाज को लेकर घेरा है, जिसमें बिजली, पानी किसान कर्जमाफी, कानून व्यवस्था, बेरोजगारी भत्ता, सरकारी नौकरियों में अटकाव, विकास के काम ठप, दलितों पर बढ़े अत्याचार, भाजपा सरकार की लोककल्याणकारी योजनाओं को किया बंद, सरकारी अस्पतालों में अव्यवस्थाओं का आलम समेत कई मुद्दे उठाए हैं. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि 2018 के विधानसभा चुनाव में जो वादे किए गए थे राजस्थान की जनता को उसकी वस्तुस्थिति ब्लैक पेपर के जरिए बताई गई है. उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि राजस्थान की जनता को 'नाथी के बाडे' में ही न्याय मिलेगा.

चार दिन की चांदनी है फिर आगे क्या करेंगे अधिकारी- पूनिया
प्रदेश में हो रहे तीन उपचुनाव को लेकर ही पूरी सियासत परवान पर है और आरोप-प्रत्यारोप के दौर भी जारी है. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि आमतौर पर राजनीतिक पार्टियां चुनाव लड़ती हैं, लेकिन वर्तमान में कांग्रेस चुनाव मैदान में नहीं है, बल्कि प्रशासनिक अधिकारी चुनाव लड़ रहे हैं. पूनिया ने अधिकारियों को चेताया कि चार दिन की चांदनी है फिर आगे क्या करेंगे अधिकारी. पूनिया ने आरोप लगाया कि अधिकारियों की ओर से मतदाताओं को डराया धमकाया जा रहा है. तीनों उपचुनाव निष्पक्ष कराने की मांग को लेकर राज्यपाल से मिलेंगे और अर्धसैनिक बल तैनात करने की मांग करेंगे.