गोरखपुर. नागरिकता संशोधन कानून यानी सीएए (CAA) को लेकर बीजेपी (BJP) के पदाधिकारी से लेकर विधायक और सांसद सब मैदान में उतर चुके हैं. लगातार संपर्क अभियान छेड़े हुए हैं. गोरखपुर सदर से लगातार चार बार से विधायक राधामहोन दास अग्रवाल (Radha Mohan Das Agrawal) ने भी पुराना गोरखपुर, जाहिदाबाद, वजीराबाद, दशहरीबाग आदि मुस्लिम बहुल मुहल्लों में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर जनसम्पर्क किया. मुस्लिमों में सीएए को लेकर भ्रम की स्थिती पर बीजेपी विधायक राधामोहन ने कहा कि अगर गोरखपुर का एक भी 'भारतीय मुस्लिम नागरिक' देश से निकाला गया तो वह विधानसभा की सदस्यता छोड़ दूंगा.

बीजेपी विधायक कहा कि सीएए नागरिकता देने वाला कानून है न कि किसी को देश से निकालने वाला. मुस्लिम बस्तियों में घूमते हुए विधायक ने कहा कि आप लोग 5000 मुस्लिम नागरिकों की बैठक बुलाईये. मैं अकेला आऊंगा और सारा भय, भ्रम, आक्रोश और विरोध को दूर करूंगा. बीजेपी विधायक राधामोहन दास अग्रवाल ने कहा कि मुझे मोदी जी पर विश्वास है, अमित शाह पर विश्वास है. मुस्लिम समाज को भी उन पर विश्वास करना चाहिए.

'मुझे मोदी और शाह पर विश्वास'


बीजेपी विधायक ने कहा, 'मैं उनपर (पीएम मोदी और अमित शाह) 100 प्रतिशत विश्वास करता हूं. वे मेरे नेता हैं. मुझे मालूम है कि इस कानून के माध्यम से भारत का एक भी वैध मुस्लमान नहीं निकाला जाएगा. मुझे मुसलमानों को समझाना है. मैं जानता हूं कि किसी भी भारतीय मुसलमान को बाहर नहीं किया जायेगा. मुझे चुनौती देनी है तो मैं अपनी विधानसभा की सदस्यता की चुनौती देता हूं, एक भी मुसलमान निकाला नहीं जायेगा क्योंकि मोदी जी कह रहे हैं और मोदी जी अगर कह रहे हैं तो उनके विश्वास पर मैं कह रहा हूं. मैं शहर के मुसलमानों के लिए जिम्मेदार हूं. एक भी शहर का वैध मुसलमान निकाला नहीं जाएगा. अगर निकाला गया तो मैं अपनी विधानसभा की सदस्यता से त्यागपत्र दे दूंगा.'