जयपुर । मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोविड-19 संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण के लिए देश में एकीकृत एवं समग्र प्रयासों की आवश्यकता पर बल देते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा है। पत्र में मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से आग्रह किया है कि केन्द्र सरकार देश में कोविड पर नियंत्रण के लिए एकीकृत मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) निर्धारित करे और 18 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के सभी लोगों के लिए टीकाकरण प्रारंभ करवाए। 
गहलोत ने कहा कि कोविड नियंत्रण को लेकर राज्यों की अलग-अलग रणनीति, अन्तरराज्यीय मुद्दों जैसे (यात्रा के लिए कोविड टेस्ट की अनिवार्यता, लॉकडाउन, रात्रि कफ्र्यू, शिक्षण संस्थाओं के संचालन) आदि विषयों को लेकर राज्यों में आपसी समन्वय की कमी है। जिसके चलते आमजन में भ्रम एवं भय की स्थिति बनी हुई है। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से इस स्थिति को दूर करने का आग्रह करते हुए कहा कि इसके लिए देश में समग्र एवं एकीकृत प्रयासों की महती आवश्यकता है।गहलोत ने बताया कि बीते एक माह में महाराष्ट्र, गुजरात, पंजाब, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडू, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, राजस्थान सहित देश के लगभग सभी राज्यों में कोविड संक्रमित रोगियों की संख्या में अप्रत्याशित वृद्धि हुई है और रोगियों की संख्या पुन: सितम्बर 2020 की स्थिति में पहुंच चुकी है। इस कारण कोविड नियंत्रण को और अधिक प्रभावी बनाए जाने की आवश्यकता है। गहलोत ने प्रधानमंत्री से एक बार फिर आग्रह किया है कि इसके लिए 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी व्यक्तियों का कोविड टीकाकरण प्रारम्भ किया जाए। उन्होंने कहा कि वर्तमान में देश में 45 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों का ही कोविड वैक्सीनेशन हो रहा है।  मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा उठ़ाये गए कदमों के कारण राजस्थान कोविड नियंत्रण तथा टीकाकरण में देश के अग्रणी राज्यों में है। कोविड संक्रमण से मानव जीवन की रक्षा के लिए राजस्थान की तरह ही अन्य राज्य भी अपने स्तर पर सभी संभव प्रयासों में जुटे हैं और टीकाकरण सहित सभी संभव प्रयास अपने-अपने तरीके और मानक संचालन प्रक्रिया से कर रहे हैं।