गाजियाबाद । गाजियाबाद में स्वास्थ्य विभाग ने घनी आबादी के लिए शुरू की गई क्लस्टर योजना को बंद कर दिया गया है। वैक्सीन कमी के चलते स्वास्थ्य विभाग ने यह फैसला लिया है। इस वजह से सेंटर पहुंच रहे लोगों को बगैर वैक्सीन लगवाए वापस लौटना पड़ रहा है। मौजूदा समय पूर्व निर्धारित सेंटरों पर ही वैक्सीन लगाई जा रही है। 
स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि वैक्सीन की उपलब्धता के बाद अगले सप्ताह दोबारा से क्लस्टर योजना शुरू की जा सकती है। जिले में वैक्सीनेशन बढ़ाने के लिए गाजियाबाद स्वास्थ्य विभाग ने पहली जुलाई से क्लस्टर योजना की शुरुआत की थी। इसके तहत जिलेभर में 375 टीमें बनाई गई हैं। जिले को चार ब्लाक और छह क्षेत्रों में बांटा गया है। इस योजना के तहत कम से कम रोजाना 10000 अतिरिक्त लोगों को वैक्सीन लगाने की लक्ष्य रखा गया था। अभी तक क्लस्टर योजना के तहत अरबन और रूरल एरिया में सेंटर बनाकर वैक्सीनेशन किया जा रहा था। इन सेंटरों पर लोक वॉकइन वैक्सीन सुविधा थी। 
जिले के वैक्सीनेशन प्रभारी डा नीरज अग्रवाल ने बताया कि वैक्सीन कम संख्या में उपलब्ध हो रही है, जो पूर्व निर्धारित वैक्सीनेशन सेंटरों के लिए  ही पर्याप्त नहीं है, इसलिए क्लास्टर योजना के तहत अतिरिक्त सेंटर बनाना संभव नहीं है। इसी को ध्यान में रखते हुए क्लस्टर योजना फिलहाल बंद करने का निर्णय लिया गया है। गाजियाबाद में 66 केन्द्रों के बजाए केवल 30 केन्द्रों पर वैक्सीन लगाई जा रही है। उन्होंने बताया कि अगले सप्ताह वैक्सीन की उपलब्धता के अनुसार दोबारा से सेंटर बनाकर वैक्सीन लगाई जाएगी। माह के शुरू में क्लस्टर योजना के तहत सेंटर बनाकर वैक्सीन लगाने का काम शुरू किया गया था।