मुंबई। महाराष्ट्र के कई जिलों में बढ़ रहे कोरोना केस के मद्देनजर प्रशासन ने सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। पालघर जिले के कलेक्टर ने तीन शादी समारोह में औचक निरीक्षण किया। कलेक्टर ने पाया कि हर शादी समारोह में 500 से अधिक लोग मौजूद थे। इसके बाद कलेक्टर ने शादी समारोह के आयोजकों पर केस दर्ज किया गया है। पालघर जिले के कलेक्टर ने उप-मंडल अधिकारी और तहसीलदार के साथ सतपति, शिरगांव जलदेवी रिज़ॉर्ट और उमरोली बिरगांव के तीन विवाह स्थलों का औचक निरीक्षण किया। औचक निरीक्षण के दौरान जिला प्रशासन के अधिकारियों ने पाया कि प्रत्येक विवाह स्थल पर पांच सौ से अधिक लोग मौजूद थे। महाराष्ट्र सरकार ने शादी समारोह में 50 से अधिक लोगों के शामिल होने पर रोक लगाई है। विवाह स्थलों पर कोरोना प्रोटोकॉल की अनदेखी के बाद दूल्हे के पिता, रिसॉर्ट मालिकों, डीजे और कैटरर्स के खिलाफ कार्रवाई की गई। तीनों दूल्हों के पिता को रिसोर्ट मालिकों, कैटरर्स के साथ सतपति और बोईसर पुलिस थानों में ले जाया गया और उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया। आरोपी व्यक्तियों पर आपदा प्रबंधन और महामारी अधिनियम की विभिन्न धाराओं और आईपीसी की धारा 188 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।