झारखण्ड  | युवक शैलेंद्र महतो उर्फ टिंकू पर कुछ अपराधियों ने जानलेवा हमला किया। शैलेंद्र महतो एक दैनिक अखबार में काम करते हैं। बारात लगभग 12:45 बजे अपने घर बलियापुर जा रहे थे। करमाटांड़ में रेलवे पुल के पास दोनों तरफ से अपराधी रस्सी लगाकर खड़े थे। वह जैसे ही बाइक लेकर गुजरे रस्सी में फस कर गिर गए। जिसके बाद अपराधियों ने उन पर ताबड़तोड़ हमला कर उनके पास रखे मोबाइल बाइक और पैसे छीन लिए।

शैलेंद्र महतो को अपराधी मरा समझकर भाग गए। उन पर लाठी डंडे से बुरी तरीके से हमला किया गया शरीर के कुछ जगहों पर चाकू के भी निशान है। समान के बाद अपराधी वहां से निकल लिए।

घटना के बाद उधर से गुजर रहे स्थानीय लोगों ने शैलेंद्र माता को जेपी अस्पताल पहुंचाया। जहां उनका इलाज चल रहा है। बताया जा रहा है कि वह सड़क पर अधमरा स्थिति में पड़े हुए थे। उनके चेहरे पर भी काफी चोट लगी है। हालांकि अभी वह खतरे से बाहर बताए जा रहे है।सिंदरी मार्ग में पहले भी लोगों पर हमले होते रहे है। अपराधी रात के अंधेरे में अकेले जा रहे हैं व्यक्ति पर हमला कर उनका सामान, पैसा लूट लेते हैं। हालांकि बीच में या घटनाएं कम हो गई थी। मगर पुलिस की रेगुलर पेट्रोलिंग नहीं होने से ऐसी घटनाएं फिर से होने लगी है। शैलेंद्र महतो पर हुए हमले को लेकर स्थानीय लोगों में पुलिस के प्रति आक्रोश भी है। लोगों का कहना है कि ऐसे हमले से किसी की जान भी जा सकती है।