दिल्ली । स्नातक पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय सोमवार को स्पेशल कटआफ जारी करेगा। स्पेशल कटआफ के तहत पात्र छात्र मंगलवार से दाखिले के लिए आवेदन कर सकेंगे। डीयू ने स्पष्ट किया है कि छात्रों को आवेदन के लिए सिर्फ दो दिन का समय मिलेगा। 30 अक्टूबर को चौथा कटआफ जारी किया जाएगा। स्नातक पाठ्यक्रमों में अब तक 60 हजार से अधिक छात्र दाखिला ले चुके हैं। कई कालेजों में मानविकी और कामर्स के पाठ्यक्रमों की सामान्य और ओबीसी की सीटें भर चुकी हैं।

डीयू दाखिला समिति ने स्पेशल कटआफ में दाखिले के लिए दिशानिर्देश भी जारी किए हैं। जिसमें कहा गया है कि शुरुआती तीन कटआफ में किसी कारणवश दाखिला नहीं ले पाने वाले पात्र छात्रों को स्पेशल कटआफ के जरिए दाखिला दिया जाएगा। किसी पाठ्यक्रम का स्पेशल कटआफ आखिरी जारी हुआ कटआफ ही होगा। अगर किसी कालेज ने भौतिक विज्ञान का पहला कटआफ 98 फीसद जारी किया था, लेकिन पाठ्यक्रम की सीटें भर जाने के चलते दूसरा तीसरा कटआफ जारी नहीं किया हुआ और बाद में छात्रों द्वारा दाखिला वापस लेने से सीटें बच गई तो ऐसी स्थिति में भौतिक विज्ञान का आखिरी कटआफ 98 फीसद ही स्पेशल कटआफ में दाखिले का पैमाना होगा।

डीयू ने बताया कि जिन छात्रों ने विगत कटआफ में दाखिला ले लिया है वो स्पेशल कटआफ में भाग नहीं लेंगे। कई छात्र कालेज या पाठ्यक्रम बदलने की मंशा से स्पेशल कटआफ में दाखिले के लिए आवेदन करते हैं, लेकिन इस बार छात्र ऐसा नहीं कर पाएंगे। केवल वही छात्र आवेदन करेंगे जो दाखिला नहीं ले पाए थे। ऐसे छात्र भी केवल एक कालेज और पाठ्यक्रम में आवेदन कर सकेंगे।

डीयू खोलने के लिए भूख हड़ताल करेंगे छात्र

उधर, करीब 18 महीनों से दिल्ली विश्वविद्यालय बंद है। छात्र घर से पढ़ाई और परीक्षा दे रहे हैं। अब दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामले कम रहे हैं तो डीयू खोलने की मांग भी जोर पकड़ने लगी है। आल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा) के नेतृत्व में छात्र विगत कई दिनों से डीयू परिसर में छात्रों को प्रवेश की अनुमति देने को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। अब छात्र दो दिवसीय भूख हड़ताल भी करेंगे। आइसा पदाधिकारियों ने बताया कि सोमवार और मंगलवार को आर्ट फैकल्टी के बाहर छात्र भूख हड़ताल करेंगे। कुलपति के खिलाफ प्रदर्शन भी किया जाएगा। छात्रों का एक प्रतिनिधिमंडल कुलपति को ज्ञापन भी सौंपेगा, जिसमें डीयू खोलने की मांग की जाएगी।