नई दिल्ली। मैच के दौरान चाहें परिस्थितियां कितनी ही विपरीत क्यों ना हों, पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी तब भी शांत रहते हैं। कैप्टन कूल कहे जाने वाले धोनी दुनिया के एकमात्र ऐसे कप्तान हैं, जिन्होंने तीन आईसीसी के टूर्नामेंट जीते हैं- 2007 का टी20 वर्ल्ड कप, 2011 का वनडे वर्ल्ड कप और 2013 की चैंपियंस ट्रॉफी। धोनी ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) को तीन बार ट्रॉफी जितवाई है। आईसीसी के इलीट पैनल के अंपायर साइमन टॉफेल ने हाल ही में महेंद्र सिंह धोनी की प्रशंसा करते हुए कहा कि पूर्व भारतीय कप्तान के पास स्मार्ट क्रिकेट माइंड है। उन्होंने कहा, धोनी क्रिकेट की दुनिया में सबसे स्मार्ट क्रिकेट माइंड रखने वाले खिलाड़ी हैं। मैं ऐसा इसलिए नहीं कह रहा कि वह भारतीय है, क्योंकि मैंने उन्हें ऐसा ही पाया है।  साइमन टॉफेल ने 'क्रिकेट ऐज' से बातचीत में कहा, वह अविश्वसनीय रूप से रणनीति बनाने वाले चिंतक हैं और उनके पास ग्रेट क्रिकेट ब्रेन है। उनका टेंपरामेंट और धैर्य कमाल का है।
 इस बातचीत के दौरान टॉफेल ने केपटाउन में एक टेस्ट मैच का जिक्र किया, जब धोनी पर स्लो ओवर रेट के चलते फाइन लगाया गया था। उन्होंने कहा, केपटाउन में श्रीसंत एक ओवर फेंकने में 7-8 मिनट लगा रहा था, इसलिए हमें धोनी पर स्लो ओवर रेट के फाइन लगाना पड़ा। इसके बाद अंपायर्स और धोनी ड्रेसिंग रूम में बैठे थे, हम उनसे ओवर रेट के बारे में बात कर रहे थे। टॉफेल ने आगे कहा, हमने धोनी से कहा कि यदि वह डरबन में भी यही गलती दोहराएंगे तो उन पर एक मैच का बैन लग सकता है। इस पर धोनी ने कहा था कि ठीक है मुझे छुट्टी की जरूरत है। मैं मैच खत्म करके जाना चाहूंगा। लेकिन श्रीसंत उस मैच में नहीं खेल रहे, इसलिए चिंता की कोई बात नहीं है। धोनी 90 टेस्ट मैचों में 38.1 के औसत से 4876 रन बना चुके हैं। 350 वनडे में 10773 रन उनके खाते में हैं। धोनी ने 98 टी-20 में 37.6 की औसत से 1617 रन बनाए हैं।