बस्ती । बस्ती काँवरिया संघ चेरिटेबुल ट्रस्ट द्वारा दशहरा,  दुर्गा पूजा आयोजन समितियों के  सम्मान मंे रंगारग कार्यक्रम का आयोजन किया गया। समिति के सदस्यों को पुलिस महानिरीक्षक आशुतोष कुमार ने प्रशस्ति पत्र व स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता ट्रस्ट के  अध्यक्ष नंद किशोर साहू व संचालन महामंत्री संजय द्विवेदी ने किया।
पुलिस महानिरीक्षक आशुतोष कुमार ने कहा कि बस्ती की जनता शान्ति प्रिय है।  दशहरा, दुर्गापूजा व काँवरिया जैसे बड़े उत्सव को शान्तिपूर्वक संचालित करना आसान नही होता, किन्तु आप सबके सहयोग यह सम्भव हो सका है। आम नागरिकों के सहयोग से हम दीपावली पर्व भी शान्तिपूर्वक मनाएंगे। बस्ती काँवरिया संघ के प्रयास सराहनीय है, इनके द्वारा किये गए सभी प्रयास अनुकरणीय है। 
आयोजक नन्द किशोर साहू ने आगन्तुकों का स्वागत करते हुये कहा कि इस वर्ष की दुर्गा पूजा कई सन्दर्भो में विशेष रही। सुर्तीहट्टा में मां वैष्णोदेवी मार्ग और देवी जी के दर्शन को जिस प्रकार से श्रद्धा उमड़ी वह स्वयं में रेकार्ड है। सूर्य कुमार शुक्ल ने कहा कि जिन भक्तों ने यात्रियों की सेवा किया उनको सम्मानित करना हम सबका दायित्व है। यह विशेष अवसर है जब हम सेवा करने वालों का सम्मान कर रहे हैं। 
ट्रस्ट की ओर  पुलिस महानिरीक्षक आशुतोष कुमार, पुरानी बस्ती थानाध्यक्ष सर्वेश राय, दारोगा गणेश कुमार, ओम प्रकाश आर्य, विवेक गिरोत्रा, कुंवर नागेंद्र सिंह, गोपाल मद्धेशिया, प्रभुप्रीति सिंह, आनन्द राजपाल, प्रदीप पाण्डेय, राजेश श्रीवास्तव ‘बिन्नू’  जितेन्द्र सिंह, अभय पाल, संजय जायसवाल, आलोक मिश्र, विमल पाण्डेय, जान पाण्डेय,  आदि को सम्मानित किया गया। इसी कड़ी में डोली वाली मैय्या, बग्गी वाली मैया,  पाण्डेय बाजार, बाला जी कमेटी, दक्षिण दरवाजा राधा कृष्ण मंदिर, जी.एम.डी. कमेटी पुरानी बस्ती, बाल गोपाल कमेटी मंगलबाजार, संकल्प कमेटी स्टेशन रोड के सदस्य रवीश मद्धेशिया, मोनू मद्धेशिया, अंकुर, पवन, अजमल, सूरज जायसवाल, आनन्द, कुंवर नगेन्द्र सिंह, सोनू, विक्की, संजय जायसवाल, डा. राजू, नीरज गुप्ता, राज कसौधन, अजीत कसौधन, अश्विनी साहू, कमल जायसवाल, अंशू गुप्ता, अजय चौधरी, ओंकार गुप्ता, खुशबू जायसवाल, नैन्सी गुप्ता, अनिल गौतम, काजल अग्रहरि, सूरज सोनू, मुकेश, अनिल, भल्लू, सुनील, परशुराम चौधरी, रविन्द्र कश्यप, अदालत प्रसाद, रविन्द्र तिवारी, राजेश गुप्ता, कमल राजपाल, अनूप अरोरा, अतुल अरोरा, संतराम विश्वकर्मा आदि ने कार्यक्रम में शामिल होकर योगदान दिया।