परीक्षाएं शुरू होने वाली हैं इन परीक्षाओं के लिए छात्र सालभर मेहनत करते हैं पर कई बार छात्र बोर्ड परीक्षा के दिन कुछ ऐसी गलतियां कर देते हैं, जो उनके लिए दिक्कत खड़ी कर सकती है और उनकी सालभर की मेहनत पर पानी भी फेर  देती हैं। ऐसे में हम आपको उन गलतियों के बारे में बता रहे हैं, जो अक्सर लोग कर देते हैं। आप भी इन गलतियों के बारे में जान लें, ताकि आप इन गलतियों से बच सकें।
पेपर अच्छे से नहीं पढ़ते- जब भी स्टूडेंट बोर्ड परीक्षा देने स्कूल जाते हैं तो थोड़े नर्वस हो जाते हैं लेकिन पेपर पढ़ने के लिए दिए गए 15 मिनट के बावजूद भी वो अच्छे से पेपर नहीं पढ़ते हैं। अगर आप अच्छे से पहले पेपर पढ़ लेते हैं तो आप इस बात का फैसला कर सकते हैं कि आपको कौनसा सवाल पहले करना है और कौनसा सवाल बाद में करना है।
टाइम मैनेजमेंट- पेपर को जल्दी करने का सबसे सही तरीका है टाइम मैनेजमेंट. स्टूडेंट्स को परीक्षा में टाइम मैनेजमेंट करके चलना चाहिए। अक्सर स्टूडेंट्स टाइम मैनेजमेंट के साथ नहीं चलते और उनका पेपर बचा रह जाता है। जब भी पेपर देने बैठें तो वो सेक्शन जो ज्यादा नंबर के हैं सबसे पहले उन्हें हल करें। फिर कम नंबर वाला सेक्शन हल करनी के कोशिश करनी चाहिए। या पहले उन सवालों को निपटा लें, जिनके लिए आप पूरी तरह आश्वस्त हैं।
गलत डेटा कॉपी करना- न्यूमेरिकल सवाल हल करते समय स्टूडेंट्स अक्सर प्रश्न पत्र में से देखकर गलत संख्या लिख लेते हैं। जिसकी वजह से सवाल गलत हो जाता है इसलिए सवाल उतारते समय सावधानी बरतें और डेटा एक बार फिर से जांच लें।
सही उत्तर ना लिखना- कई बार स्टूडेंट्स बड़े-बड़े पैराग्राफ में आंसर लिखते हैं जिससे एग्जामिनर को जांचने में परेशानी होती है। जहां तक हो सके स्टूडेंट्स को अपनी बात तय प्वाइंट्स में लिखनी चाहिए।
अंत में आंसर-शीट को समय दें- जितना जरूरी शुरुआत में प्रश्न पत्र पढ़ना है उतना ही जरूरी अंत में आंसर शीट पढ़ना। पेपर हल करने के चक्कर अक्सर स्टूडेंट्स आंसर शीट पढ़ना भूल जाते हैं। अगर आप एग्जाम में अच्छे नंबर लाना चाहते है, तो ये सभी गलतियां करने से बचें।