मुंबई: मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) कैंपस के भीतर रविवार को हुई हिंसा को लेकर विरोध कर रहे छात्रों के बीच एक पोस्टर ऐसा दिखा, जिसके बाद राजनैतिक गलियारे में विवाद उठ गया है. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने उद्धव ठाकरे की सरकार पर सवाल उठाया है. इस मामले में महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर न्यूज एजेंसी एएनआई का वीडियो शेयर करते हुए सवाल उठाया है.
देवेंद्र फडणवीस ने उद्धव ठाकरे कार्यालय के ट्विटर अकाउंट को टैग करते हुए लिखा, ''विरोध वास्तव में क्या है? 'फ्री कश्मीर' के नारे क्यों? हम मुंबई में ऐसे अलगाववादी तत्वों को कैसे बर्दाश्त कर सकते हैं? मुख्यमंत्री कार्यालय से सिर्फ 2 किमी दूर पर आज़ादी गैंग द्वारा 'फ्री कश्मीर' के नारे? उद्धव जी क्या आप इस 'फ्री कश्मीर विरोधी भारत अभियान' को अपनी नाक के नीचे बर्दाश्त करेंगे?''

बता दें कि हिंसा के विरोध में रविवार रात से मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर आंदोलन कर रहे छात्रों को पुलिस ने मंगलवार की सुबह जबरन हटाया है. इन छात्रों को जबरदस्ती उठा उठाकर पुलिस की गाड़ी में डाला गया. प्रदर्शन कर रहे लोगों को पुलिस ने आज़ाद मैदान शिफ्ट कर दिया है. पुलिस की दलील है कि गेटवे ऑफ इंडिया में प्रदर्शन के चलते ट्रैफिक की समस्या आ रही थी. आपको बता दें कि JNU में हिंसा के विरोध में रविवार रात से ही गेटवे ऑफ इंडिया पर लोग प्रदर्शन कर रहे थे, जिसमें छात्र, फिल्म जगत से जुड़े लोग भी शामिल थे.