कृषि विधेयकों के विरोध में किसानों का रोष कम होने का नाम ही नहीं ले रहा। इसी बीच पहले से किए गए आह्वान के चलते गुरुवार को पंजाब में कई जगह किसानों ने सड़क और रेल यातायात बंद कर दिया। बरनाला में तो रेलवे ट्रैक पर टेंट ही लगा दिया। दूसरी ओर किसानों के प्रदर्शन के मद्देनजर फिरोजपुर रेल मंडल ने एहतिहातन अमृतसर से चलने वाली सभी 14 स्पेशल ट्रेनों को आज सुबह 6 बजे से 26 सितंबर रात 12 बजे तक रद्द करने के आदेश जारी किए हैं।बरनाला में किसान सुबह से ही सड़कों पर उतर आए। दुकानदारों से दुकानें बंद करने की अपील की। कांग्रेस, अकाली दल, आम आदमी पार्टी सहित विभिन्न संगठन किसानों के समर्थन में आए आगे। इसके बाद किसानों ने रेलवे ट्रैक पर टेंट गाड़ दिया और वहां धरने पर बैठ गए।

पटियाला के नाभा में किसान रेलवे ओवरब्रिज के नीचे भारतीय किसान यूनियन की अगुवाई में धरने पर बैठ गए हैं। नाभा के डीएसपी राजेश छिब्बर किसानों से बात करने के लिए पहुंचे हैं। साथ ही किसानों ने कहा कि कृषि विधेयकों से किसानों पर मार पड़ेगी।

अमृतसर में किसान मजदूर संघर्ष कमेटी से जुड़े कार्यकर्ता आज सुबह से रेलवे ट्रेक पर जमे हैं। किसानों ने रेल रोको अभियान शुरू किया है। कमेटी के सदस्यों ने कहा कि उनका रेल रोको अभियान 26 सितंबर तक जारी रहेगा।
उधर, जानकारी मिली है कि राज्य की 31 किसान जत्थेबंदियों की को-ऑर्डिनेशन कमेटी 25 को विभिन्न मार्गों पर धरना देगी। भाकियू के किसान नेता सतवंत सिंह ने बताया कि राज्यभर में आढ़ती मंडियों को बंद रखेंगे।

शिरोमणि अकाली दल 25 सितंबर को छह जगह चक्का जाम करेगा। विधायक पवन टीनू ने सभी अकाली नेताओं से धरने में शामिल होने की अपील की है। लुधियाना के मुल्लापुर दाखां में शिअद विधायक विधायक मनप्रीत सिंह अयाली के नेतृत्व में किसानों ने धरना दिया। वहीं, जालंधर के करतारपुर में कलाकारों ने प्रदर्शन किया। सिख तालमेल कमेटी भी किसानों के समर्थन में आ गई है।

डीआरएम ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये स्थानीय अधिकारियों के साथ बात की। आदेश के मुताबिक अमृतसर से चलने वाली मुंबई सेंट्रल, अमृतसर से कोलकाता, अमृतसर से न्यू जलपाईगुड़ी, अमृतसर से बांद्रा टर्मिनल, अमृतसर से नांदेड़ साहिब, अमृतसर से हरिद्वार, अमृतसर से जयनगर, अमृतसर से नई दिल्ली, अमृतसर से डिब्रूगढ़, धनबाद, क्लोन ट्रेनों में अमृतसर से न्यू जलपाईगुड़ी, जयनगर और बांद्रा टर्मिनल शामिल हैं। अगर किसानों का आंदोलन दो दिन से बढ़ता है तो ट्रेनों को आगे भी रद्द किया जा सकता है। वहीं, मालगाड़ियों का संचालन आंदोलन की स्थिति को देखते हुए किया जाएगा।

संसद घेरने दिल्ली जा रहे लोक इंसाफ पार्टी के कार्यकर्ताओं को हरियाणा पुलिस ने शंभू बॉर्डर पर बैरिकेड्स लगाकर रोक लिया। प्रदर्शनकारियों पर हरियाणा पुलिस ने पानी की बौछारें की, लेकिन बैंस समर्थक रातभर वहीं डटे रहे। छह घंटे तक राजपुरा-अंबाला राष्ट्रीय राजमार्ग बंद रहा, जिससे 14 किलोमीटर लंबा जाम लग गया। बाद में आवाजाही सुचारू करने के लिए राजपुरा के गगन चौक से जीरकपुर-लालड़ू के रास्ते वाहनों को भेजा गया।