वडोदरा | शहर में दिन प्रति दिन 350 से अधिक कोरोना संक्रमित मरीज सामने आ रहे हैं| अनाधिकृत आंकड़ों के मुताबिक नियमित 3000 जितने कोरोना के केस दर्ज हो रहे हैं, जिससे लोगों में दहशत व्याप्त है और लोग स्वयं लॉकडाउन की मांग करने लगे हैं| वडोदरा व्यापार विकास एसोसिएशन ने शहर में सात दिन के लॉकडाउन की मांग की है| इस एसोसिएशन से वडोदरा के करीब 70 हजार से अधिक छोटे-बड़े व्यापारी जुड़े हैं| व्यापारी अच्छी तरह जानते हैं कि लॉकडाउन से उन्हें नुकसान होना तय है, इसके बावजूद वह लॉकडाउन की मांग कर रहे हैं| ताकि कोरोना की चेइन टूटे और संक्रमण कम हो| वडोदरा व्यापार विकास एसोसिएशन के पदाधिकारी, वडोदरा चैम्बर ऑफ कॉमर्स एन्ड इंडस्ट्रीज के पदाधिकारी, हाथीखाना अनाज-किराना एसोसिएशन के पदाधिकारी, वडोदरा चार्टर्ड एकाउन्टन्ट एसोसिएशन की बीते दिन हुई संयुक्त बैठक में 7 दिन के लोकडॉउन का समर्थन किया गया| वडोदरा व्यापार विकास एसोसिएशन के संयोजक परेश परीख के मुताबिक प्रशासन को वडोदरा में संक्रमण रोकने के लिए 7 दिन का लॉकडाउन लगाना चाहिए| परेश परीख ने राजनीतिक दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें राज्य में सभी राजनीतिक कार्यक्रमों को तुरंत बंद करना देना चाहिए| कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकार को चाहिए कि वह कहीं भीड़ जमा न होने दे| कई व्यापारी, कर्मचारी और उनके परिवार के सदस्य कोरोना की चपेट में आ रहे हैं, जिसे देखते हुए कम से कम सात दिन का लॉकडाउन लगाया जाए ताकि कोरोना की चेइन टूटे|