गुरुग्राम । गुरुग्राम के एक नामी प्राइवेट अस्पताल में टीबी के इलाज के लिए भर्ती हुई युवती के साथ आईसीयू में दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। छह दिन बाद होश में आई युवती ने अपने पिता को लिखकर शारीरिक उत्पीड़न होने की बात बताई। पुलिस ने सुशांत लोक थाने में मंगलवार को मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मूल रूप से हरियाणा के महेंद्रगढ़ की रहने 21 वर्षीय युवती टीबी रोग से पीड़ित है। सांस लेने में दिक्कत होने पर उसे शहर के एक नामी अस्पताल में 21 अक्टूबर को भर्ती कराया गया था। युवती की हालत को देखते हुए डॉक्टरों द्वारा इलाज के लिए उसे आईसीयू में वेंटिलेटर पर रखा गया था। युवती के पिता ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि मंगलवार को उनकी बेटी होश में आई थी। वह बेटी से मिलने गए तो उन्हें लिखकर व इशारों में बताया कि उसके साथ शारीरिक उत्पीड़न हुआ है। युवती ने विकास नामक युवक पर शारीरिक उत्पीड़न करने का आरोप लगाया। इस पर युवती के पिता ने सुशांत लोक थाना पुलिस को शिकायत दी। शिकायत में 21 अक्टूबर से 27 अक्टूबर के बीच वारदात होने की बात कही गई है। पीड़ित के पिता ने पुलिस से आग्रह किया कि उनकी बेटी का मेडिकल सरकारी अस्पताल के डॉक्टरों से कराया जाए।शिकायत मिलने के बाद पुलिस युवती के बयान लेने के लिए अस्पताल पहुंची, लेकिन डॉक्टरों ने युवती के बयान देने की हालत में न होने की बात कही। पुलिस उपायुक्त मकसूद अहमद ने बताया कि मामले की जांच शुरू कर दी गई है। आरोपी विकास अस्पताल का कर्मचारी है या नहीं, इस बारे में युवती के माता-पिता भी नहीं जानते। युवती के बयान देने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। अस्पताल का रिकॉर्ड, सीसीटीवी कैमरे की फुटेज कब्जे में लेकर जांच की जा ही है। पीड़िता बयान देने की स्थिति में नहीं है।