हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की बुधवार को अचानक तबीयत बिगड़ गई है। ऐसे में उन्हें बीच में ही काम छोड़ना पड़ा। चेकअप के लिए तुरंत डॉक्टरों को बुलाया गया। जांच में कोई गंभीर समस्या सामने नहीं आई, ऐसे में फिलहाल डॉक्टर्स ने उन्हें आराम करने की सलाह दी है।

मुख्यमंत्री की तबीयत बिगड़ने के बाद प्रदेश में अलग-अलग चर्चाएं हो रही हैं। CM को गुरुवार को गवर्नर से मुलाकात करनी है। दिल्ली जाने का भी कार्यक्रम है। अब उनके बीमार होने के चलते कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं।

सिंघु बॉर्डर समेत कई मुद्दों पर होनी थी मीटिंग
मुख्यमंत्री आज सिंघु बॉर्डर को खुलवाने को लेकर अफसरों के साथ हाईलेवल मीटिंग लेने वाले थे। मंगलवार को हुई बैठक में किसानों ने एक तरफ का रास्ता खोलने का भरोसा दिया था। जिस पर आगे की रणनीति तय होनी थी। जब उनकी तबीयत खराब हुई उस वक्त वो चंडीगढ़ में परिवार पहचान पत्र की बैठक ले रहे थे।

प्रदेश में परिवार पहचान महत्वपूर्ण
परिवार पहचान पत्र के कार्यक्रम में शिरकत करते हुए CM ने कहा कि योजनाओं का लाभ आम आदमी तक पहुंचाने का माध्यम PPP है। इसके माध्यम से ही सभी प्रकार के लाभ मिलेंगे। इसमें किसी भी प्रकार की गलती जानकारी नहीं होनी चाहिए।अभी इसे लेकर लोगों को काफी दिक्कतें आ रही है। उन्हें दूर करने पर भी चर्चा हुई। इसके लिए अलग से विभाग बनाया जा रहा है, जिस पर अभी नियुक्तियां होनी है। साथ ही प्रदेश में स्कूल टीचरों के माध्यम से PPP की आय का निरीक्षण करवाया जा रहा है। इसी के जरिए हर प्रकार का प्रमाण पत्र बनेगा, दाखिले और भर्ती के आवेदन हो रहे हैं। अन्य सुविधाओं को भी इसमें लाया जा रहा है। इसीलिए ये बेहद जरूरी है।