बदलते मौसम का सबसे ज्यादा असर हमारी हेल्थ पर पड़ता है। सर्द मौसम दस्तक दे रहा है और हमारी खाने-पीने की आदतें अभी भी समर सीज़न वाली है। ठंडा पानी और ठंडी चीजों का सेवन गले की परेशानी बढ़ा देता है। अक्सर गले में दर्द सर्दी-जुकाम के कारण होता है जो कुछ दिनों में ठीक हो जाता है। अगर गले का दर्द एक हफ्ते से ज्यादा रहे तो आपको टॉन्सिल में इन्फेक्शन की परेशानी हो सकती है। टॉन्सिल में इन्फेक्शन होने पर गले में दर्द रहता है और टॉन्सिल सूज जाते हैं। टॉन्सिल में सूजन होने से ना सिर्फ खाने-पीने में दिक्कत होती है बल्कि सलाइवा तक निगलने में दिक्कत होने लगती है। टॉन्सिल में इंफेक्शन होने से गले में दर्द और खराश, बुखार, आवाज़ में खराबी, गले में जकड़न जैसी समस्याएं बेहद परेशान करती हैं। आप भी गले में इस तरह की परेशानी महसूस कर रहे हैं तो उसका घर में ही उपचार करें।

नींबू से करें उपचार: 

टॉन्सिल का उपचार करने के लिए नींबू बहुत ही अच्छा घरेलू नुस्खा है। एक गिलास गर्म पानी में नींबू डालें और उसमें शहद और नमक मिलाकर उसका सेवन करें। गर्म पानी के साथ नींबू का सेवन दिन में दो से तीन बार करें आपको गले के दर्द से निजात मिलेगी।

दूध के साथ करें हल्दी और काली मिर्च का सेवन:

उबलते हुए दूध में एक चुटकी हल्दी और चुटकी भर कालीमिर्च का पाउडर मिलाकर रात को पीएं। टॉन्सिल के दर्द से राहत दिलाने में हल्दी और काली मिर्च का दूध बेहद फायदेमंद होता है। इससे टॉन्सिलिटिस से होने वाली सूजन और दर्द से आराम मिलता है।

नमक के पानी से गरारा करें:

नमक के पानी से गरारे करने से टॉन्सिलिटिस से होने वाले दर्द को कम करने में बेहद मदद मिलती है। गर्म पानी में थोड़ा सा नमक डालकर उससे दिन में दो बार गरारे करें आपके गले को आराम मिलेगा।

गाजर का जूस दर्द से दिलाएगा राहत:

गाजर विटामिन का बेहतरीन स्रोत है जो एंटी टॉक्सिन गुणों से भरपूर है। गाजर का जूस विषैले तत्वों और टॉन्सिलिटिस को कम करता है। कुछ लोगों को कब्ज की शिकायत रहती है जिसकी वजह से भी टॉन्सिलिटिस होता है ऐसे लोग गाजर के जूस का सेवन करें तुरंत राहत मिलेगी।

मेथी का सेवन करें:

एक लीटर पानी मे तीन चम्मच मेथी का दाना लेकर पानी को हल्का उबाल लें, और दिन में कई बार इस पानी से गरारे करें। दो दिन तक लगातार गरारा करने से आपको टॉन्सिलिटिस से आराम मिल जाएगा।

अंजीर के पेस्ट से करें उपचार:

अंजीर को पानी में उबाल कर इसका पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को गले पर लगाएं। इससे आपको टॉन्सिलिटिस से होने वाले दर्द से आराम मिलेगा।

कैमोमाइल टी भी है असरदार:

कैमोमाइल टी में नींबू और शहद को मिलाकर उसका प्रयोग करने से टॉन्सिलिटिस में काफी आराम मिलेगा। कैमोमाइल टी को आप दिन में दो से तीन बार प्रयोग कर सकते हैं।