भारतीय रिफॉर्म्स ने उद्यमियों और कर्मियों दोनों के लिए विन-विन सिचुएशन पैदा कीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंवेस्ट इंडिया कॉन्फ्रेंस किया संबोधित.
पीएम मोदी ने कहा कि प्राइवेट सेक्टर में वृहद सहभागिता को बढ़ावा दिया गया है. और क्षेत्र में सरकारी सुरक्षा सुधारों को भी मजबूत किया है. इससे नवउद्यमियों और परिश्रमी लोगों के लिए विन-विन सिचुएशन पैदा हुई हैं.

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंवेस्टमेंट इंडिया कॉफ्रेंस में कहा है कि भारत द्वारा किए गए रिफॉर्म्स ने उद्यमियों और कर्मियों दोनों के लिए विन-विन सिचुएशन पैदा की हैं. इंवेस्ट इंडिया कॉन्फ्रेंस का लक्ष्य कनाडा के व्यवसाय जगत के समक्ष भारत में निवेश के अवसरों को प्रस्तुत करना तथा निवेश के आकर्षक गंतव्य के रूप में भारत को सामने रखना है. पीएम मोदी ने अपने वर्चुअल संबोधन में कई विषयों पर बातचीत की. पीएम ने खासतौर पर कोरोना के दौरान भारत के प्रयासों और सुधारों पर विशेष चर्चा की.

पीएम मोदी ने कहा कि प्राइवेट सेक्टर में वृहद सहभागिता को बढ़ावा दिया गया है. और क्षेत्र में सरकारी सुरक्षा सुधारों को भी मजबूत किया है. इससे नवउद्यमियों और परिश्रमी लोगों के लिए विन-विन सिचुएशन पैदा हुई हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि भारत दुनिया के लिए फार्मेसी के रूप में काम कर रहा है, हमने कई देशों को दवाईयां भेजी हैं. हमारे यहां जून में खेली में 23 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. कोरोना से पहले भारत पीपीई किट्स नहीं बनाता था. आज भारत न सिर्फ पीपीई किट बना रहा है बल्कि इसे निर्यात भी कर रहा है.


उन्होंने कहा कि भारत की कहानी आज मजबूत है और कल इससे भी ज्यादा मजबूत होगी. आज, एफडीआई शासन बहुत अच्छी तरह से उदारीकृत हो गया है. हमने सॉवरिन वेल्थ और पेंशन फंड के लिए एक अनुकूल कर व्यवस्था बनाई है. हमने एक मजबूत बॉन्ड बाजार विकसित करने के लिए महत्वपूर्ण सुधार किए हैं.

साथ ही पीएम ने कहा- भारत-कनाडा द्विपक्षीय संबंध हमारे साझा लोकतांत्रिक मूल्यों और कई साझा हितों से प्रेरित हैं. हमारे बीच व्यापार और निवेश संबंध हमारे बहुआयामी संबंध के अभिन्न अंग हैं. कनाडा सबसे बड़े और सबसे अनुभवी इंफ्रास्ट्रक्चर निवेशकों में से कुछ का घर है. कनाडाई पेंशन फंड भारत में निवेश शुरू करने वाले पहले व्यक्ति थे. उनमें से कई पहले से ही राजमार्गों, हवाई अड्डों, रसद जैसे क्षेत्रों में कई अवसरों की खोज कर चुके हैं.