अहमदाबाद | मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि गुजरात के शहरों को दुनिया के आधुनिक शहरों के समकक्ष बनाने के मकसद से राज्य सरकार ने शहरों के सर्वांगीण विकास के लिए आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध कराई हैं। मुख्यमंत्री ने मंगलवार को गांधीनगर से विधानसभा अध्यक्ष राजेन्द्रभाई त्रिवेदी की उपस्थिति में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए वडोदरा महानगर पालिका के नागरिक सुविधाओं के विकास कार्यों तथा प्रधानमंत्री आवास योजना सहित कुल 344.45 करोड़ रुपए के विभिन्न कार्यों का ई-शिलान्यास और ई-शुभारंभ किया। इस अवसर पर नर्मदा विकास राज्य मंत्री योगेशभाई पटेल और सांसद रंजनबेन भट्ट वडोदरा से कार्यक्रम में जुड़े। उन्होंने कहा कि ‘जहां नागरिक, वहां सुविधा’ के ध्येय मंत्र के साथ राज्य सरकार आगे बढ़ रही है। कोरोना के संकट काल में भी राज्य सरकार ने 15 हजार करोड़ रुपए के विकास कार्यों की भेंट गुजरात की जनता को समर्पित की है। रूपाणी ने कहा कि कोरोना के इस मुश्किल दौर में जनता-जनार्दन के सहयोग से कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने में हम सफल रहे हैं। राज्य सरकार ने कोरोना संक्रमितों को बेहतर उपचार सुविधाएं मुहैया कराने का लगातार ध्यान रखा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इस बात का लगातार प्रयास कर रहे हैं कि देश में कोरोना के खिलाफ सुरक्षा के लिए जल्द से जल्द वैक्सीन प्राप्त हो। गुजरात भी कोरोना वैक्सीन के प्रभावी वितरण के लिए ध्यान केंद्रित कर जरूरतमंदों तक वैक्सीन पहुंचाने की दिशा में योजनाबद्ध तरीके से आगे बढ़ रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अतीत में कांग्रेस के शासनकाल में विकास कार्यों में अनेक अवरोध और रुकावटें आती थीं। लेकिन वर्तमान शासन में जनता के पसीने के एक-एक पैसे का सदुपयोग हो रहा है। यही नहीं, भूतकाल के शासन में शिलान्यास के नाम पर पत्थर रख दिए जाते थे, परन्तु विकास कार्य आगे नहीं बढ़ते थे। हमारी सरकार जिन विकास कार्यों का शिलान्यास करती है, उसे समयबद्ध योजना बनाकर निश्चित समयसीमा में पूरा करने के बाद उसका उद्घाटन भी हम करते हैं। उन्होंने कहा कि वडोदरा शहर में पिछले पांच वर्ष में महानगरपालिका ने विकास की छलांग लगाई है। इतना ही नहीं, कोरोना काल में भी शहर की विकास प्रक्रिया को गतिशील बनाकर शहरीजनों की सुख-सुविधा में बढ़ोतरी करने वाले अनेक कार्य करने के लिए उन्होंने मनपा टीम को बधाई दी। मुख्यमंत्री ने ‘सबका साथ, सबका विकास’ मंत्र के साथ केवल विकास को ही अपना ध्येय मंत्र बनाकर कार्य करने का अनुरोध किया। रूपाणी ने कहा कि वडोदरा शहर को 344 करोड़ के विकास कार्यों की भेंट मिलने से सांस्कृतिक नगरी वडोदरा को नई पहचान मिलेगी।