मुंबई। देश भर में कई सिलसिलेवार बम धमाकों के मामलों का दोषी आतंकी जलीस अंसारी गुरुवार सुबह से लापता है. आतंकी जलीस को पकड़ने के लिए जगह-जगह छापेमारी की जा रही है. हालांकि अभी तक सुरक्षा एजेंसियों को जलीस अंसारी का कोई सुराग नहीं मिला है. आतंकी जलीस अंसारी पिछले महीने पैरोल पर राजस्थान स्थित अजमेर केंद्रीय कारागार से बाहर आया था. उस पर 50 से ज्यादा सीरियल बम धमाके करने का भी आरोप है. वह मुंबई से लापता हुआ है. जलीस अंसारी 'डॉक्टर बम' के नाम से भी जाना जाता है. 1993 में हुए राजस्थान सीरियल बम धमाके में उसे उम्रकैद की सज़ा हुई थी. वह पिछले साल दिसंबर में 21 दिन की पैरोल पर अजमेर जेल से बाहर आया था. शुक्रवार को पैरोल खत्म होने के पहले ही वह गायब हो गया. मुंबई के अग्रिपाडा पुलिस स्टेशन में उसके लापता होने की जानकारी मिलने के बाद महाराष्ट्र एटीएस और क्राइम ब्रांच अलर्ट पर हैं. आतंकी जलीस अंसारी को पकड़ने की कोशिशें तेज कर दी गई हैं. एक अधिकारी ने बताया कि पैरोल की अवधि के दौरान अंसारी को रोजाना सुबह साढ़े दस बजे से 12 बजे के बीच अग्रीपाडा थाने आकर हाजिरी लगाने को कहा गया था, लेकिन वह गुरुवार को निर्धारित समय पर नहीं पहुंचा. अभी तक सुरक्षा एजेंसियों को जलीस अंसारी का कोई सुराग नहीं मिला है. बता दें कि आतंकी जलीस अंसारी आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिद्दीन और सिमी से जुड़ा था और पाकिस्तान में बम बनाने की ट्रेनिंग ले चुका है. अंसारी जयपुर ब्लास्ट,अजमेर ब्लास्टऔर मालेगांव ब्लास्ट में भी दोषी है.
- बेटे ने दर्ज गुमशुदगी की रिपोर्ट
जांच अधिकारियों के मुताबिक गुरुवार दोपहर में अंसारी का बेटा जैद अंसारी अग्रिपाडा पुलिस थाने पहुंचा और पिता के लापता होने की शिकायत दर्ज कराई. जैद ने बताया कि उसके पिता जलीस सुबह नमाज पढ़ने की बात कहकर घर से निकले थे लेकिन वापस नहीं लौटे. जैद की शिकायत पर पुलिस ने जलीस की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर ली है. मुंबई पुलिस की अपराध शाखा और महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधक दस्ते ने उसको पकड़ने के लिए बड़े पैमाने पर अभियान चलाया है. आतंकी जलीस अंसारी के गायब होने की जानकारी मिलने के बाद से महाराष्ट्र एटीएस, मुंबई क्राइम ब्रांच समेत अन्य सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं.