मुंबई। शिवसेना नेता द्वारा मुंबई में कराची बेकरी का नाम बदलने के लिए दुकान विक्रेता को धमकाने वाला वीडियो वायरल होने के बाद पार्टी बचाव की मुद्रा में आ गई है. शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने इस मामले से पार्टी का पल्ला झाड़ा है. उन्होंने गुरुवार को सफाई दी कि कराची बेकरी या कराची स्वीट्स का नाम बदलने की मांग शिवसेना की आधिकारिक मांग नहीं है. शिवसेना ऐसी किसी मांग का समर्थन नहीं करती. राउत ने कहा, कराची बेकरी और कराची स्वीट्स पिछले 60 सालों में मुंबई में है. इसका पाकिस्तान से कोई लेना-देना नहीं है. इसका नाम बदलने की मांग बेतुकी है. नाम बदलने की मांग शिवसेना का आधिकारिक रुख नहीं है. आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है. इसमें शिवसेना नेता नितिन नंदगांवकर को एक मिठाई विक्रेता से दुकान के नाम में से कराची शब्द को हटाने के लिए धमकाते देखा गया. नंदगांवकर का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसके बाद उन्हें खूब आलोचना झेलनी पड़ी. दो मिनट के इस वीडियो में शिवसेना नेता नंदगांवकर को मिठाई दुकान के मालिक के साथ देखा जा रहा है. इसमें दुकान मालिक नंदगांवकर के सामने हाथ जोड़े नजर आया. खुद को सामाजिक कार्यकर्ता बताने वाले शिवसेना नेता नितिन नंदगांवकर का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसके बाद उन्हें खूब फजीहत झेलनी पड़ी. हालांकि यह पता नहीं चल पाया है कि यह वीडियो कब का है और किसने इसे सोशल मीडिया पर साझा किया.