छत्तीसगढ़ के रायपुर में बदमाशों ने बुधवार देर रात एक कारोबारी के बेटे का अपहरण कर लिया। इसके बाद परिजनों से 30 लाख रुपए की फिरौती मांगी थी। पुलिस ने इस मामले में 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जबकि एक आरोपी फरार हो गया। मामला सिविल लाइंस थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, ओसीएम चौक, अहमदी कॉलोनी निवासी मोहम्मद यूनुस कारोबारी हैं। उनका बेटा सोहेल बुधवार रात करीब 9.15 बजे 5 मिनट में आने की बात कहकर शंकर नगर गया था, लेकिन एक घंटे से ज्यादा समय होने के बाद भी नहीं लौटा। उसके नंबर पर कॉल करने पर कोई रिसीव नहीं कर रहा था। रात करीब 11.44 बजे सोहेल के नंबर से कॉल आया।

कॉल करने वाले बदमाश ने सोहेल को छोड़ने की एवज में 30 लाख रुपयों की मांग रखी। इस पर परिजनों ने पुलिस से संपर्क किया। सूचना मिलने पर पुलिस के उच्चाधिकारियों सहित साइबर सेल की टीम एक्टिव हो गई। रात में ही बदमाशों को पकड़ने की योजना तैयार की गई और उनकी घेराबंदी को लेकर अलग-अलग टीम तैयार कर ली गई।

बदमाशों ने फिरौती की रकम देने के लिए वालफोर्ट सिटी के पास भाठागांव बुलाया। इसके बाद परिवार का सदस्य बनकर पुलिसकर्मी पहुंच बताई गई जगह पर पहुंच गया इसी दौरान कार से रुपए लेने पहुंचे आरोपी मौदहापारा निवासी आमीन अली तो पुलिस ने घेराबंदी कर पकड़ लिया और पूछताछ शुरू की।

पकड़े गए आरोपी से पूछताछ के बाद पुलिस ने घटारानी मार्ग स्थित जंगल में घेराबंदी की। आरोपियों को वाहन चिन्हित किया, लेकिन भनक लगने से वह स्विफ्ट कार से भागने लगे। पुलिस ने पीछा किया तो रास्ते में एक आरोपी चलती कार से कूदकर भाग निकला। जबकि कार में सवार अन्य बदमाशों को पुलिस ने पकड़ लिया और सोहेल को उनके चंगुल से बचा लाए।

पकड़े गए आरोपियों में मौदहापारा निवासी आमीन अली, तालाब पारा, मौदहापारा निवासी पीयूष रायचूरा और डब्ल्यूआरएस कॉलोनी खमतराई निवासी फ्रांसिस मांझी शामिल है। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि सोहेल को अगवा कर पूरी रात रायपुर से धमधा, गण्डई, छुईखदान, खैरागढ़, राजनांदगांव, बालोद, धमतरी, आरंग घुमाते हुए गरियाबंद मार्ग वाले जंगल में ले गए थे।

बदमाशों ने बताया कि कोई गाड़ी को पहचान न ले, इसके लिए थोड़ी दूर जाने पर फर्जी लगाई नंबर प्लेट बदलते रहते। पुलिस अभी एक अन्य आरोपी रोहन उर्फ संदीप की तलाश कर रही है। बदमाशों के कब्जे से पुलिस ने स्विफ्ट कार, डियो कार, चाकू, फर्जी नंबर प्लेट और रस्सी जब्त की है।