महाराष्ट्र के जलगांव में एक ही परिवार के 4 बच्चों की कुल्हाड़ी के काटकर हत्या कर दी गई। मृतकों में 2 लड़के और 2 लड़कियां हैं। इनकी उम्र 3 से 12 साल है। चारों के शव खेत में मिले हैं। पूर्व मंत्री गिरीश महाजन और रावेर सांसद रक्षा खडसे ने सबसे बड़ी बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका जताई है।

घटना की जांच के लिए SIT (विशेष जांच दल) का गठन किया गया है, जिसमें IPS अधिकारी कुमार सिन्हा सहित चार पुलिस निरीक्षक शामिल हैं।घटना का खुलासा शुक्रवार सुबह हुआ, जब एक किसान ने खेत में शव देखे। बच्चों के माता-पिता मूल रूप से मध्यप्रदेश के खरगोन के रहने वाले हैं और अपने पैतृक गांव गए हैं। घटना जलगांव की रावेर तहसील के बोरखेड़ा गांव की है। मृतकों में सुमन (3), अनिल (8), रावल (11) और सरिता (12) शामिल हैं।

जांच में पता चला है कि इनके मां-पिता एक खेत में काम करते थे। बच्चों को अकेले छोड़कर वे मध्य प्रदेश में अपने पैतृक गांव गए थे। इस बीच, किसी ने बच्चों की हत्या कर दी। वारदात की वजह और आरोपियों के बारे में अभी पता नहीं चल पाया है।
रावेर पुलिस ने बताया कि चारों बच्चों के को कुल्हाड़ी से बेरहमी से काटा गया है। जिस खेत में शव मिले हैं, उसके मालिक मेहताब ने ही फोन कर पुलिस को जानकारी दी। सूचना मिलने पर जिले के उप विभागीय पुलिस अधिकारी नरेंद्र पिंगले अपनी टीम के साथ जांच के लिए पहुंचे। पूरे गांव को सील कर लोगों के बयान लिए जा रहे हैं।