पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी भजन लाल की राजनीतिक पीएचडी को तोड़ने वाले पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री आईडी स्वामी (90) का रविवार को हृदय गति रुकने से निधन हो गया है। उनका अंतिम संस्कार सोमवार सुबह 11 बजे अर्जुन गेट स्थित शिवपुरी में किया जाएगा। ज्ञात रहे कि गत 9 दिसंबर को उनकी धर्मपत्नी पद्यमा स्वामी का भी लंबी बीमारी के उपरांत निधन हो गया था।
आई डी स्वामी जी के जाने से एक ही सप्ताह में परिवार के लिए यह दूसरी बड़ी क्षति है। बता दें कि रविवार प्रात: उनकी तबीयत खराब हो जाने के कारण उपचार के लिए फरीदाबाद के मैट्रो अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। उनके निधन से पूरे शहर में शोक की लहर है और सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ-साथ सामाजिक और धार्मिक संगठनों के सदस्यों ने भी उनके निधन पर गहरा दुख प्रकट किया है।

आईडी स्वामी और उनकी धर्मपत्नी पद्यमा स्वामी अपने पीछे पुत्र राजेंद्र स्वामी, तीन बेटियां सागिरा स्वामी, शगुफ्ता शर्मा और सोफिया शारदा सहित भरा-पूरा परिवार छोड़ गए हैं।
संक्षिप्त परिचय
आईडी स्वामी आईएएस थे। सेवानिवृत्ति के बाद उन्होंने राजनीति में कदम रखा। वर्ष 1996 में आईडी स्वामी में भाजपा से करनाल से चुनाव लड़ा और कांग्रेस के चिरंजीलाल शर्मा को पराजित किया। इसके बाद वर्ष 1998 में पूर्व सीएम भजनलाल से वे हार गए। इसके बाद वर्ष 1999 में फिर से आईडी स्वामी ने भजनलाल रिकार्डमतों से हराया। इसकी वजह से उन्हें केंद्र में गृह राज्य मंत्री का ओहदा दिया गया था। इसके बाद वे कांग्रेस के अरविंद शर्मा से हार गए थे। पिछले कई वर्ष से उम्र ज्यादा होने के कारण राजनीतिक कार्यक्रमों से दूर थे।