अभी तक दूसरे और चौथे शनिवार को LIC चालू रहती थी कंपनी देश का सबसे बड़ा आईपीओ लाने की तैयारी में है
 

मुंबई देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) ने हफ्ते में 5 दिन काम को मंजूरी दे दी है। 10 मई से इसे लागू किया जाएगा। सोमवार से शुक्रवार तक काम होगा। शनिवार और रविवार छुट्‌टी होगी। अभी तक दूसरे और चौथे शनिवार को LIC चालू रहती थी।

LIC ने जारी की सूचना

गुरुवार को LIC ने इस संबंध में बाकायदा नियम लागू कर दिया। LIC ने कहा कि सोमवार से शुक्रवार तक सुबह 10 से शाम 5.30 तक आफिसेज चालू रहेंगी। जबकि हर शनिवार और रविवार को पूरी तरह से बंद रहेंगी। यानी हफ्ते के चालू दिनों में केवल 7.30 घंटे काम होगा। LIC में करीबन 1.15 लाख कर्मचारी हैं। सभी को इसका फायदा मिलेगा। LIC ने कहा कि इस संबंध में सरकार ने पहले ही मंजूरी दे दी थी।

पिछले महीने सरकार ने दी थी मंजूरी

पिछले महीने ही सरकार ने LIC की इस मांग को मंजूरी दे दी थी और अब इसे LIC ने लागू किया है। पिछले महीने ही LIC के कर्मचारियों की सैलरी में 16% के इजाफे को मंजूरी दे दी गई थी। हालांकि यह काफी लंबे समय बाद की गई थी। इससे पहले अगस्त 2012 में वेज को बढ़ाया गया था। हालांकि LIC में 5 साल पर सैलरी में सुधार किया जाता है, पर इस बार काफी देरी से इसे किया गया।

IPO पर काम कर रही है

LIC इस समय अपने IPO पर काम कर रही है। यह भारत में अब तक का सबसे बड़ा IPO होगा और इस पर सबकी निगाह लगी है। LIC ने इसमें अपने पॉलिसीधारकों के लिए 10% हिस्सा रिजर्व रखेगी। माना जा रहा है कि IPO आते समय इसके कर्मचारियों का भी हिस्सा इसमें रिजर्व होगा।

बैंकिंग सेक्टर में फिर तेज होगी मांग

उधर LIC के इस कदम के बाद एक बार फिर से बैंकिंग सेक्टर में भी हफ्ते में 5 दिन काम करने की मांग तेज हो सकती है। सूत्रों के मुताबिक बैंक यूनियन इस संबंध में इंडियन बैंक्स एसोसिएशन के साथ बात करने की तैयारी कर रही हैं। बैंक यूनियन लंबे समय से इसकी मांग कर रही हैं। पर इस पर अभी तक कोई फैसला नहीं किया गया है। बैंकों में फिलहाल सोमवार से शुक्रवार और पहले तथा तीसरे शनिवार को काम होता है। हालांकि कोरोना के समय में बैंकिंग के कामकाज के समय को घटा दिया गया है।

पिछले साल मांग खारिज हो गई थी

इंडियन बैंक्स एसोसिएशन ने जनवरी 2020 में बैंक यूनियनों की इस मांग को खारिज कर दिया था। हालांकि उस समय 19% की सैलरी बढ़त को एसोसिएशन ने मंजूरी दे दी थी। बैंक कर्मचारियों का कहना है कि जब डिजिटल की बात है और सब कुछ डिजिटल हो रहा है तो फिर सोमवार से शनिवार तक बैंक खोलने की जरूरत नहीं है। वैसे भी पूरी दुनिया में इस समय हफ्ते में 5 दिन का ही का चलन है। लेकिन भारत में अभी भी यह कुछ सेक्टर या कंपनियों में लागू नहीं हो पाया है।