कई ऐसे नेचरल तरीके हैं, जिनका यूज करके आप बिना किसी सर्जरी और दर्द के अपनी स्किन की क्वॉलिटी को बेहतर कर सकती हैं। इस तरीकों से स्किन टाइटनिंग, दाग- धब्बे-रिंकल्स रहित स्किन, कोलेजन और इलास्टिन का प्रोडक्शन वगैरह बढ़ाया जाता है, जिससे स्किन ओवरऑल हेल्दी बनती है, यह कहना है आईएलएएमईडी के संस्थापक और निदेशक डॉ. अजय राणा का। लुक्स को निखारने के लिए पहले सर्जरी ही एकमात्र उपाय थी, लेकिन इस साल आ गई हैं कुछ नई चीजें। जिनके जरिए आप बिना किसी सर्जरी के नेचरल तरीकों से लुक्स को उभार पाएंगी।

होंठ इंजेक्शनलोगों की चाह एेक्ट्रेस की तरह खूबसूरत चेहरा और सूंदर लिप्स की रहती है। कुछ लोग उनकी तरह के पाउट्स बनाना चाहते हैं, जिसके लिए अब सर्जरी की जरूरत नहीं। यह काम आप कर सकती हैं होंठ इंजेक्शन से। होंठ इंजेक्शन केवल होंठ ही नहीं, बल्कि चेहरे को शेप देने के लिए भी पॉपुलर होता जा रहा है। इंजेक्शन से लिप्स के आसपास के हिस्सों को सुन्न कर दिया जाता है और लिप्स बिना किसी दर्द के एक अच्छे शेप में आ जाते हैं।


शाइनिंग देता है लेजर वैंड
स्किन की छोटी-छोटी खामियां जैसे कि सनबर्न और दाग धब्बे के लिए आंशिक लेजर का इस्तेमाल महिलाओं के बीच पॉपुलर होता जा रहा है। बिना किसी दर्द के यह प्रोसेस बहुत कम समय में हो जाती है। खास बात ये है कि इसके कोई साइड इफेक्ट्स नहीं होते हैं। इसमें लेजर वैंड को फेस पर घुमाया जाता है, जिससे स्किन शाइन तो करती ही है साथ ही फेस के पोर्स भी कम हो जाते हैं। चेहरे को एक नया लुक देने के लिए सेलिब्रिटीज से लेकर आम लोग तक इन लेजर्स का उपयोग कर रहे हैं।


केमिकल्स ट्रीटमेंट से नई स्किन
पुरानी स्किन को हटाकर उसकी जगह स्किन की नई लेयर डिवेलप की जाती है, जिससे फेस क्लीन, साफ और यंग दिखाई देने लगता है। इसके लिए यूज किया जाता है केमिकल्स। स्किन के वैसे हिस्से जो जल गए हैं या उस पर किसी भी तरह के दाग धब्बे आ गए हैं, उसको हटाने का यह एक अच्छा उपाय है। केमिकल उपाय उन लोगों के लिए बहुत फायदेमंद है, जो फेस से रिंकल्स, सनबर्न, पिंपल्स और मुंहासे के निशानों को हटाना चाहते हैं।

ऑक्सीजन फेशियल
डॉक्टर संजय महाजन बताते हैं कि ऑक्सीजन फेशियल के लिए सबसे पहले स्किन को डीपली क्लीन किया जाता है और फिर तकरीबन दो मिनट तक चेहरे पर ऑक्सीजन का स्प्रे किया जाता है। ऑक्सीजन फेशियल से ड्राई स्किन में अंदर तक नमी पहुंचाई जाती है। पलूशन से जिस चेहरे की नमी खत्म हो चुकी है वह दुबारा नम हो जाती है। साथ ही इससे सूर्य की किरणों से होने वाले डैमेज से भी निजात मिलती है। ऑक्सीजन फेशियल चेहरे से गंदगी को निकाल कर डेड स्किन में जान डालता है। इसके पेस्ट को चेहरे पर लगाने से चेहरे का ब्लड सर्कुलेशन बढता है, जिससे कि स्किन की क्वालिटी अच्छी हो जाती है। वैसे, आपको बता दें कि ऑक्सीजन फेशियल नॉर्मल फेशियल की तुलना में चेहरे के लिए ज्यादा फायदेमंद हैं और यह स्किन पर तत्काल असर करता है। इस फेशियल में उच्च तकनीक वाली मशीन से स्किन के अंदर ऑक्सीजन और अन्य छोटे-छिलके वाले स्किन केयर उत्पादों (जैसे हायल्यूरोनिक एसिड, विटामिंस ) को स्किन पर डाला जाता है।

मेसोथेरेपी से बाल और चेहरा फिट
मेसोथेरेपी बिना किसी सर्जरी वाली एक कॉस्मेटिक तकनीक है, जिसमें त्वचा को कसने के लिए फार्मास्यूटिकल्स, विटामिन, होम्योपैथिक्स, हार्मोन्जाइम के कई इंजेक्शन शामिल हैं। यह चेहरे के साथ-साथ बालों के झड़ने का इलाज करते हैं, उसके सेल्युलाइट को कम करते हैं और चेहरे के गहरे दागों को हल्का करते हैं। मेसोथेरेपी में विटामिन, अमीनो एसिड और दवाओं के विशेष रूप से तैयार किए गए मिक्सचर का इंजेक्शन शामिल होता है, जो त्वचा के अंदर जाकर चेहरे के टिश्यू को कोमल और हाइड्रेट करने काम करता है। गहरे दाग और जली हुई स्किन की लाइनों को नरम बनाता है। यह ट्रीटमेंट स्किन के किसी भी निशान को हटाने के लिए भी एक कारगर तरीका हैं।


गालों से अतिरिक्त फैट को निकालना
चेहरे को नया लुक देने के लिए लोगों का मुख्य ध्यान जॉ लाइन को कम करने पर होता है। डॉक्टर अजय राणा कहते हैं कि डबल-चिन को कम करने और जॉ लाइन को एक जैसा करने के लिए बिना किसी सर्जरी के ट्रीटमेंट मौजूद है। बेल्किरा एक ऐसा प्रॉडक्ट है, जिसमें डीओक्सीकोलिक एसिड होता है। बॉडी में नेचरल रूप से पाया जाने वाला यह प्रोडक्ट स्किन में जरुरत से अधिक फैट को कम करता है। वह बताते हैं कि रेस्टाइलन, जुवेडर्म और पर्लेन जैसे ट्रीटमेंट के साथ अब आप गालों की सुंदरता को फिर से पा सकते है। वैसे जो लोग चेहरे की सर्जरी से गुजरना पसंद नहीं करते हैं, उनके लिए यह इंजेक्टेबल फिलर्स ज्यादा अच्छा ऑप्शन हैं।