महिला-बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने यूनिसेफ के सहयोग से झाबुआ के बच्चों द्वारा निकाले गए छायाचित्रों का प्रदर्शनी रथ 'मांदल फोटो एग्जिबिशन ऑन द व्हील्स' रवाना किया। इस रथ में बच्चों द्वारा निकाली गई बाल अधिकार, शिक्षा, स्वास्थ्य, पोषण, समानता के अधिकारों को दर्शाती तस्वीरों का प्रदर्शन किया गया है।

मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने बच्चों के प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि बच्चों को भावी जीवन में जिम्मेदार नागरिक बनाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि झाबुआ के बच्चों की अभिनव पहल ने यह साबित कर दिया है कि बच्चे अब अपने अधिकारों, सुरक्षा, पोषण और अन्य विषयों के बारे में सजग हो रहे हैं।

यूनीसेफ के राज्य प्रमुख श्री माइकल जुमा ने कहा कि बाल अधिकार समझौते को 30 पूर्ण हो चुके हैं। हर बच्चे को उसका अधिकार दिलाने के लिये निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं।

यूनीसेफ के संचार विशेषज्ञ श्री अनिल गुलाटी ने बताया कि प्रदर्शनी रथ द्वारा 16 नवम्बर को बावड़िया शासकीय विद्यालय एवं मनीषा मार्केट, 17 नवम्बर को अंकुर विद्यालय एवं सैर सपाटा तथा 18 नवम्बर को बीएसएस कॉलेज एवं माखनलाल यूनिवर्सिटी में छायाचित्रों का प्रदर्शन किया जायेगा।