भिवानी। केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में पिछले छह सप्ताह से जारी किसान आंदोलन के बीच भारतीय किसान आंदोलन ने आज ऐलान किया है कि गणतंत्र दिवस पर किसी नेता को वो राष्ट्रीय ध्वज यानी तिरंगा झंडा फहराने नहीं देंगे। भाकियू के युवा प्रदेश अध्यक्ष रवि आजाद ने कहा कि किसान भिवानी में बिजली मंत्री रणजीत चौटाला का विरोध करेंगे। बिजली मंत्री अगर भिवानी आए तो जिले को सील करेंगे। उन्होंने कहा कि आंदोलन चलने तक नेताओं को राष्ट्रीय ध्वज फहराने का हक नहीं है। भाकियू नेता रवि आजाद ने कहा कि 19 जनवरी को भिवानी शहर में ट्रैक्टर रैली निकाली जाएगी। राकेश टिकैत के नेतृत्व में ट्रैक्टर रैली की पहले रिहर्सल की जाएगी। 26 जनवरी को दिल्ली कूच और नेताओं को झंडा फहराने रोका जाएगा। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की कमेटी से किसानों को कोई लेना-देना नहीं है। आंदोलनरत किसानों का स्‍पष्‍ट कहना है कि संयुक्त किसान मोर्चा अपने पूर्व के फैसले के लिहाज से किसी भी कमेटी के प्रस्ताव को खारिज कर चुका है।