पीएम ने यूपी में 2239 करोड़ की लागत से तैयार नौ मेडिकल कालेजों का बटन दबाकर किया उद्धाटन


लखनऊ । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज सोमवार को उत्तर प्रदेश के अपने छह घंटे के दौरे में प्रदेश की जनता को हजारों करोड़ की सौगातों की छड़ी लगा दी। मोदी यहां भगवान महात्मा बुद्ध की क्रीड़ा स्थली सिद्धार्थनगर में 2239 करोड़ की लागत से तैयार प्रदेश के नौ मेडिकल कालेजों का बटन दबाकर उद्धाटन किया। इसके बाद अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 5,189 करोड़ रुपए की लागत से तैयार विकास की 28 परियोजनाओं का लोकार्पण करेंगे। वाराणसी में पीएम मोदी प्रधानमंत्री आत्मानिर्भर स्वस्थ भारत योजना का शुभारंभ भी करेंगे। सिद्धार्थनगर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रिमोट का बटन दबाकर नौ मेडिकल कालेज का उद्घाटन करने के बाद जनसभा को संबोधित किया। संबोधन की शुरुआत उन्होंने भोजपुरी भाषा से की। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश तथा प्रदेश में हमारी राजनीतिक इच्छाशक्ति और राजनीतिक प्राथमिकता के कारण स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में सुधार हुआ है। जो पहले सरकार में थे, वो वोट के लिए कहीं डिस्पेंसरी की, कहीं छोटे-मोटे अस्पताल की घोषणा करके बैठ जाते थे। उत्तर प्रदेश की जनता ने योगी आदित्यनाथ को सेवा का मौका दिया तो उन्होंने दिमागी बुखार को बढऩे से रोक, हजारों बच्चों का जीवन बचा लिया। उन्होंने कहा कि सरकार जब संवेदनशील हो, गरीब का दर्द समझने के लिए मन में करुणा का भाव हो तो इसी तरह काम होता है। मुझे इस बात का हमेशा अफसोस रहेगा कि यहां पहले जो सरकार थी उसने हमारा साथ नहीं दिया। विकास के कार्यों में वो राजनीति को ले आई, केंद्र की योजनाओं को यहां यूपी में आगे नहीं बढऩे दिया।
प्रधानमंत्री ने कहा कि आज का दिन पूर्वांचल और उत्तर प्रदेश के लिए आरोग्य की डबल डोज लेकर आया है। आज केन्द्र में जो सरकार है, यहां उत्तर प्रदेश में में जो सरकार है, वह अनेकों कर्मयोगियों के दशकों की तपस्या का योगदान है। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमको भरोसा है कि पूर्वाचल सिर्फ उत्तर प्रदेश ही नहीं देश का मेडिकल का हब बनेगा। सेहत का उजाला देने वाला होगा।
प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में पहले मूलभूत सुविधाओं पर कभी ध्यान नहीं दिया गया था। अब नौ नए मेडिकल कॉलेजों के निर्माण से प्रदेश में करीब करीब ढाई हजार नए बेड्स तैयार हुए हैं। पांच हजार से अधिक डॉक्टर और पैरामेडिक्स के लिए रोजगार के नए अवसर बने हैं। इसके साथ ही हर वर्ष सैकड़ों युवाओं के लिए मेडिकल की पढ़ाई का नया रास्ता खुला है। सिद्धार्थनगर ने स्वर्गीय माधव प्रसाद त्रिपाठी के रूप में ऐसा समर्पित जनप्रतिनिधि देश को दिया, जिनका अथाह परिश्रम आज राष्ट्र के काम आ रहा है। सिद्धार्थनगर के नए मेडिकल कॉलेज का नाम माधव बाबू के नाम पर रखना उनके सेवाभाव के प्रति सच्ची कार्यांजलि है। माधव बाबू का नाम यहां से पढ़कर निकलने वाले युवा डॉक्टरों को जनसेवा की निरंतर प्रेरणा भी देगा। इससे पहले उन्होंने भोजपुरी में कहा कि स्वस्थ और निरोग भारत कैय सपना पूरा करबधै कैय यक बड़ा कदम हैय, आप सबकैय बधाई। महात्मा बुद्ध जउनै धरती पर आपने पहले कैय जीवन बिताइन, वाहि धरती पर आज नव मेडिकल कॉलेज कैय उद्घाटन हय।


मोदी ने का विपक्ष पर किया जोरदार प्रहार-
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में पहले वाली सरकार में भ्रष्टाचार की साइकिल 24 घंटे चलती रहती थी। दवाई खरीद में भ्रष्टाचार, एम्बुलेंस चलाने में भ्रष्टाचार, ट्रांसफर-पोस्टिंग में भ्रष्टाचार। प्रदेश में पहले था सिर्फ भ्रष्टाचार ही भ्रष्टाचार। सही ही कहा जाता है कि जाके पांव ना फटी बिवाई, वो क्या जाने पीर पराई। यहां पर तो वर्षों तक बिल्डिंग ही नहीं बनती थी, बिल्डिंग होती थी तो मशीनें नहीं होती थीं, या डॉक्टर और दूसरा स्टाफ नहीं होता था। ऊपर से गरीबों के हजारों करोड़ रुपए लूटने वाली भ्रष्टाचार की सायकिल चौबीसों घंटे अलग से चलती रहती थी। प्रधानमंत्री ने कहा कि सात वर्ष पहले जो दिल्ली में सरकार थी और चार वर्ष पहले जो यहां उत्तर प्रदेश में सरकार थी, वो पूर्वांचल में क्या करते थे।केंद्रीय स्वास्थ्य, परिवार एवं कल्याण मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि पीएम की सोच है कि हर जिले में एक मेडिकल कालेज हो। एक दिन में नौ मेडिकल कालेजों को समर्पित किया जा रहा है। यह छोटी बात नहीं है। सभी जिलों में रहने वाले लोगों को हेल्थ की सुविधाएं मिलेगी। इसके आसपास रोजगार के अवसर मिलेंगे। पिछले सात साल में स्वास्थ्य सेवा में सुधार हुआ। 170 मेडिकल कालेज खुले हैं। 27 मेडिकल कालेज सिर्फ यूपी में खुले है। पहले 51 हजार सीटें थीं अब 32 हजार सीटों की वृद्धि हुई है। मनसुख मांडविया ने कहा कि जब आप प्रधानमंत्री बने उस समय देश का स्वास्थ्य बजट लगभग 33,000 करोड़ था, आपके 7 साल के कार्यकाल में स्वास्थ्य पर होने वाला खर्च क़रीब 8 गुना बढ़ गया है। इस साल सरकार स्वास्थ्य पर लगभग सवा दो लाख करोड़ खर्च करने जा रही है।
सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सोमवार को यहां से प्रदेश के कुल नौ मेडिकल कालेजों का शुभारंभ हो रहा है। यही कोरोना संक्रमण के कारण हमारे बीच न रहने वालों के लिए श्रद्धांजलि है। भारत की पहचान सशक्त भारत के रूप में बनी है। 70 वर्षों में 12 मेडिकल कालेज खुले थे। मुझे याद है यहां कैसे मासूम बच्चे दिमागी बुखार से मरते थे। अब तो बच्चों के लिए हर अस्पताल में आईसीयू की व्यवस्था है। 95 फीसद बीमारी पर नियंत्रण हुआ है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सिद्धार्थनगर के बीएसए मैदान में कार्यक्रम स्थल पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल तथा सीएम योगी आदित्यनाथ से साथ पहुंचे। सिद्धार्थनगर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मेडिकल कालेज की प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इससे पहले यहां आगमन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री को भगवान गौतम बुद्ध की प्रतिमा भेंट की। इससे पहले डुमरियागंज से सांसद भाजपा नेता जगदंबिका पाल ने विषय प्रवेश कराया और सरकार की उपलब्धियां गिनाई। संचालक आगंतुकों का अभिवादन करते हुए जय श्रीराम का जय घोष की और ऐतिहासिक क्षण में सभी से शामिल होने की अपील की।