सूरत | गुजरात हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद पाटीदार आरक्षण आंदोलन (पास) नेता अल्पेश कथीरिया को आज जेल से रिहा कर दिया| जेल से रिहा हुए अल्पेश कथीरिया का स्वागत करने गुजरात कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल समेत कई पास नेता पहुंचे| इस मौके पर हार्दिक पटेल ने कहा कि सरकार को निर्दोष लोगों पर फर्जी केस करने से बाज आना चाहिए| सूरत महानगर पालिका चुनाव के दौरान अल्पेश कथीरियाके खिलाफ रायोटिंग का मामला दर्ज किया था| अल्पेश की अगुवाई में 50 से 60 बाइक और कार में आए 150 से 200 जितने लोगों ने बीटीपी कार्यकर्ता द्वारा वीडियो बनाए जाने पर पास कार्यकर्ताओं ने मारुति वैन में बैठे बीटीपी कार्यकर्ता से मारपीट की थी और जाति विषय शब्दों का उपयोग किया था| साथ ही 3000 रुपए की लूट समेत मारुति वैन के शीशे तोड़ जान से मारने धमकी दी थी| इस संदर्भ में कामरेज पुलिस थाने में अल्पेश कथीरिया समेत अन्य लोगों के खिलाफ एट्रोसिटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था| जिसके बाद पुलिस ने अल्पेश कथीरिया को गिरफ्तार कर लिया था| गुजरात हाईकोर्ट से सशर्त जमानत मिलने के बाद सूरत के लाजपोर जेल से अल्पेश कथीरिया को आज रिहा कर दिया गया| अल्पेश कथीरिया का स्वागत करने प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी प्रमख हार्दिक पटेल, आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता समेत पाटीदार बड़ी संख्या में लाजपोर जेल के बाहर जमा हुए थे| इस मौके पर हार्दिक पटेल ने सरकार पर कड़े प्रहार करते हुए कहा कि अल्पेश कथीरिया का स्वागत करने और उनका उत्साह बढ़ाने में हम यहां आए हैं| सरकार सत्ता को दुरुपयोग कर निर्दोष लोगों को जेल भेज रही है| सरकार की ऐसी कार्यवाही से राज्य का माहौल बिगड़ सकता है और लोगों का सत्ता से भरोसा खत्म हो जाएगा| उन्होंने आरोप लगाया कि  सरकार फर्जी केस कर लोगों को दबाने का प्रयास कर रही है| जबकि स्वस्थ लोकतंत्र में प्रत्येक को सत्ता के खिलाफ बोलने का अधिकार है| उन्होंने कहा कि अल्पेश कथीरिया काफी समय से जनता की आवाज बुलंद करने का प्रयास कर रहे हैं|