उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से कई परियोजनाओं का तोहफा जनता को मिल रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उत्तर प्रदेश के सबसे लंबे गंगा एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि 36,230 करोड़ रुपये की लागत से इसे सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) के अंतर्गत बनाया जाएगा। ये एक्सप्रेस-वे मेरठ से प्रयागराज तक बनेगा। गंगा एक्सप्रेस-वे के शिलान्यास कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम सबका ये सौभाग् है कि शाहजहांपुर की ये धरती वीरों की धरती है। उन्होंने कहा कि साल 2014 से पहले जो घोषणाएं होती थीं, वो सिर्फ चुनावों को ध्यान में रखकर होती थीं। लेकिन अब ऐसा नहीं है। पहले और अब की सरकार में यही बड़ा अंतर है। अब योजनाओं की घोषणाएं ही नहीं होती, उन्हें पूरा भी किया जाता है। 2014 के बाद विकास की राजनीति प्रदेश में हो रही है। कई एक्सप्रेसवे इसका उदाहरण हैं।

यूपी के मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 के बाद जो जोड़ने की राजनीति शुरू हुई उनका परिणाम है कि गांव का, किसानों का, नौजवानों का, श्रमिकों का सम्मान करते हुए देश की आस्था को सम्मान देने का कार्य प्रधानमंत्री मोदी ने किया।