भोपाल.मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में राज्यसभा चुनाव (rajya sabha election) की तैयारी शुरू हो गयी है. प्रदेश की तीन सीटों के लिए 19 जून को मतदान है.वोटिंग विधानसभा भवन में होगी. लेकिन कोरोना संक्रमण (corona infection) के कारण सोशल डिस्टेंस (social distance) बनाए रखने के लिए इस बार मतदान कक्ष बदल दिया गया है. सभाकक्ष एम-02 की जगह अब विधानसभा के सेंट्रल हॉल में वोटिंग होगी.

सोशल सोशल डिस्टेंस 
राज्यसभा की तीन सीटों के लिए 19 जून को मतदान होना है.मतदान के दौरान सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखा जाएगा. विधायक जब वोटिंग करने के लिए पहुंचेंगे तो कतार में दो सदस्यों के बीच एक से डेढ़ मीटर की दूरी रखी जाएगी. विधानसभा सचिवालय ने विधान सभा कैंपस का मेंटनेंस देखने वाले अफसरों से चर्चा की और उसके बाद मतदान स्थल सभा कक्ष M 2 की जगह सेंट्रल हॉल कर दिया गया.

ज्यादा संख्या होने के कारण बदला स्थान
ये नया विधान सभा भवन जब से बना है तब से हर राज्यसभा चुनाव में सभा कक्ष एम 2 में ही मतदान हुआ. लेकिन इस बार कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण मतदाता विधायकों की कतार में दो सदस्यों के बीच एक से डेढ़ मीटर का अंतर होना ज़रूरी है.विधायकों के साथ विधानसभा सचिवालय का स्टाफ भी मौजूद रहेगा. सभा कक्ष एम-2 में इतनी जगह नहीं थी इसलिए सेंट्रल हॉल को चुना गया.

3 सीटों के लिए वोटिंग
राज्यसभा चुनाव में तीन सीटों के लिए मतदान होना है.भाजपा से ज्योतिरादित्य सिंधिया, सुमेर सिंह सोलंकी और कांग्रेस से दिग्विजय सिंह और फूल सिंह बरैया उम्मीदवार हैं. मध्यप्रदेश में  भाजपा से प्रभात झा और सत्यनारायण जटिया की राज्यसभा सीट खाली हुई थीं वहीं कांग्रेस की ओर से दिग्विजय सिंह का कार्यकाल भी खत्म हो गया है. वो दोबारा उम्मीदवार हैं. चुनाव मार्च में होना थे लेकिन कोरोना संकट के कारण उन्हें टालना पड़ा था.

राज्यसभा चुनाव का गणित
230 सीट वाली मध्यप्रदेश विधान सभा में अभी 24 सीटें खाली हैं.दो विधायकों के निधन होने से दो सीट खाली हुईं और 22 विधायकों ने सिंधिया के साथ दलबदल कर कांग्रेस छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया. इसलिए 22 सीट खाली हो गयीं. इस लिहाज से देखा जाए तो कांग्रेस के 114 में से 22 विधायक कम हुए हैं. कांग्रेस के पास 92 विधायक हैं,जबकि बीजेपी के 107 विधायक हैं.इनके साथ चार निर्दलीय, दो बीएसपी और 1 एसपी विधायक हैं. विधायकों के इस गणित के हिसाब से बीजेपी को लगभग 2 सीट मिलना तय माना जा रहा है.