नई दिल्ली । आंदोलन कर रहे किसानों के पक्ष में और तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग के साथ शुक्रवार को कांग्रेस पार्टी देशभर में राजभवनों का घेराव करेगी। कांग्रेस नेता और वायनाड से सांसद राहुल गांधी इस प्रदर्शन का नेतृत्व करेंगे और वह भी दिल्ली  में उपराज्यपाल के निवास तक मार्च करेंगे। दरअसल, कांग्रेस पार्टी  'किसान अधिकार दिवस' मना रही है और इसको लेकर सभी राज्य की इकाइयों को भी सूचित कर दिया गया है कि वे राजभवनों का घेराव करें। एक पार्टी अधिकारी के मुताबिक, 'कांग्रेस ने सभी राज्य की इकाइयों को अपने-अपने राज्यों में राजभवनों का घेराव करने को कहा है। केंद्रीय शासित प्रदेशों में लेफ्टिनेंट गवर्नर हाउस का घेराव किया जाएगा। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं के साथ दिल्ली कांग्रेस द्वारा आयोजित प्रदर्शन में हिस्सा लेंगे। पार्टी के सूत्र ने बताया, 'पार्टी कार्यकर्ताओं को चांदगी राम अखाड़ा पर इकट्ठा होने के लिए कहा गया है, जहां से एलजी हाउस की तरफ मार्च निकाला जाएगा। इस मार्च का नेतृत्व राहुल गांधी और पार्टी के वरिष्ठ नेता करेंगे।' कांग्रेस पार्टी ने सरकार से तीनों कृषि कानून वापस लेने की मांग की थी। इन तीनों कृषि कानूनों के विरोध में किसान दिल्ली की सीमाओं पर पिछले 50 दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं। इससे पहले 24 दिसंबर को किसानों के मुद्दे पर राहुल गांधी ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ मिलकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को ज्ञापन सौंपा था। कांग्रेस शासित राज्यों ने इन तीनों कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव भी पास किए हैं और उन प्रस्तावों को राज्य के गवर्नर के पास भेजा है। राहुल गांधी ने कहा था, 'सरकार किसानों को बबार्द करने की साजिश कर रही है। मोदी सरकार कृषि कानूनों को वापस लेने पर मजबूर हो जाएगी। उन्होंने जोर देकर कहा कि उनके शब्दों को याद रखा जाए। साथ ही यह भी कहा कि कांग्रेस किसानों के साथ खड़ी रहेगी। मेरी बात याद रखना। सरकार इन कानूनों को वापस लेने को मजबूर होगी। याद रखें जो मैंने कहा है।