अहमदाबाद | गुजरात की प्राइवेट लेबोरेटरी में रु. 800 आरटीपीसीआर टेस्ट किया जाएगा| उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने बताया कि राज्य में प्रवर्तमान कोरोना की स्थिति और नागरिकों के हितों को ध्यान में रखते हुए प्राइवेट लेबोरेटरी में टेस्ट की कीमत घटाने का फैसला किया गया है| नितिन पटेल ने कहा कि कोरोना के मरीजों का प्राइवेट लेबोरेटरी में तत्कालीन समय में जो दर किए गए थे, उसमें उल्लेखीय कटौती की गई है| राज्य में तत्कालीन समय में टेस्ट के लिए किट भी सीमित प्रमाण में उपलब्ध थी| आज किट की संख्या और उत्पादन में वृद्धि होने पर आरटीपीसीआर टेस्ट का रेट घटाने का फैसला किया गया है| नितिन पटेल ने बताया कि राज्य की प्राइवेट लेबोरेटरी में पहले आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए रु. 1500 दर तय की गई थी| जिसे घटाकर अब रु. 800 कर दी गई है| अर्थात आरटीपीसीआर टेस्ट की कीमत में रु. 700 की कटौती की गई है| पहले प्राइवेट लेबोरेटरी के टेक्निशियन के लोगों के घर या अन्य अस्पताल में जाकर सैंपल लेकर टेस्ट करते थे, उसके लिए रु. 2000 लिए जाते थे| उसमें भी 900 रुपए की कटौती की गई है| अब घर या अस्पताल में जाकर आरटीपीसीआर टेस्ट करने रु. 1100 देने होंगे|