सत्ता की हनक:जांजगीर में धारा-144 लागू, युवक कांग्रेस ने निकाल दी ट्रेक्टर रैली; एसडीएम बोलीं- जानकारी नहीं, पता करवाती हूं
जांजगीर-चांपा8 मिनट पहले

छत्तीसगढ़ में सत्ता की ठसक और हनक में यूथ कांग्रेस ने जांजगीर कलेक्टर के आदेश की धज्जियां उड़ा दीं। कोरोना संक्रमण के चलते जिले में धारा-144 लगाई गई है। बावजूद इसके शहर के मुख्य मार्गों से कृषि सुधार बिल के विरोध में ट्रेक्टर रैली निकाली गई।
केंद्र सरकार के पारित किए गए कृषि सुधार बिल के खिलाफ यूथ कांग्रेस ने किया विरोध प्रदर्शन
कांग्रेसियों ने दो दिन पहले दी थी जानकारी, प्रशासन ने कहा- सिर्फ ज्ञापन देने की अनुमति थी

छत्तीसगढ़ में सत्ता की ठसक और हनक में यूथ कांग्रेस ने जांजगीर कलेक्टर के आदेश की धज्जियां उड़ा दीं। कोरोना संक्रमण के चलते जिले में धारा-144 लगाई गई है। इसके साथ ही सभा, धरना, रैली, जुलूस, धार्मिक और राजनीतिक आयोजनों पर भी प्रतिबंधित है। बावजूद इसके शहर के मुख्य मार्गों से ट्रेक्टर रैली निकाली गई और पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी देखते रह गए।

युवक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दोपहर करीब 12 बजे शारदा चौक से रैली की शुरुआत की। इस दौरान नैला मुख्यमार्ग से होते हुए कचहरी चौक पर समाप्त हुई।
युवक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दोपहर करीब 12 बजे शारदा चौक से रैली की शुरुआत की। इस दौरान नैला मुख्यमार्ग से होते हुए कचहरी चौक पर समाप्त हुई।
दरअसल, केंद्र सरकार के कृषि सुधार बिल के विरोध में यूथ कांग्रेस ने मंगलवार को प्रदर्शन किया। इस रैली को लेकर सोशल मीडिया पर दो दिन पहले ही जानकारी दे दी गई थी। कोतवाली प्रभारी लखेश केंवट कहते हैं कि रैली निकाली गई है, पर अनुमति नहीं थी। वहीं एसडीएम मेनका प्रधान का कहना है कि ज्ञापन देने के लिए युवा कांग्रेस ने अनुमति ली थी। रैली निकाली गई है तो पता करवाती हूं।

शारदा चौक से कचहरी तक निकाली रैली, एसडीएम को ज्ञापन भी सौंपा
युवक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दोपहर करीब 12 बजे शारदा चौक से रैली की शुरुआत की। इस दौरान नैला मुख्यमार्ग से होते हुए कचहरी चौक पर समाप्त हुई। कांग्रेस नेताओं ने कृषि विधेयक को काला कानून बताते हुए किसानों की उपज के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य को खत्म करने की साजिश बताया। इस बिल के विरोध में राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन भी एसडीएम को सौंपा।