करनाल। पुश्तैनी जमीन बेचकर अपने लाडलों को अमेरिका भेजा था, ये सपना देखकर कि वहां जाकर बेटे डॉलर कमाएंगे और अच्छे दिन आएंगे, लेकिन ये धोखेबाज़ी का शिकार हो गए। फर्जी वीजा बनाकर एजेंट्स ने इन्हें अमेरिका तो भेज दिया। पर वहां जाते ही पुलिस ने पकड़कर जेल में डाल दिया। एक साल जेल में रहने के बाद वहां की सरकार ने करनाल जिले के 25 युवों को डिपोर्ट कर भारत भेज दिया। पीड़ितों की शिकायत पर करनाल पुलिस ने चार आरोपी एजेंट्स को गिरफ्तार किया है।  पीड़ितों की शिकायत पर करनाल पुलिस ने चार आरोपी एजेंट्स को गिरफ्तार किया है। पुलिस धोखाधड़ी कर विदेश भेजने वाले कुछ और एजेंट्स को जल्द गिरफ्तार करने का दावा कर रही है। पीड़ित परिवार इंसाफ की गुहार लगा रहे हैं और अपने लाखों रुपये वापस मांग रहे हैं।  एसपी सुरेंद्र सिंह भौरिया ने बताया कि भारत सरकार द्वारा 76 ऐसे नागरिकों को भारत लाया गया। इनको एजेंटों के माध्यम से गैर कानूनी तरीके से अमेरिका भेजा गया था। इनको जिला पंचकूला में क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया। इनमें से 25 नागरिक करनाल के हैं।