अहमदाबाद। गुजरात में अचानक मौसम पलट जाने से बीते चौबीस घंटे में राज्यभर में तेज हवाएं बरसात जारी रही। राज्य की 108 तहसीलों में बेमौसम बरसात हुई। सौराष्ट्र के राजकोट, जूनागढ, भावनगर, गीर सोमनाथ, अमरेली, अहमदाबाद, गांधीनगर आदि शहरों में बीती रात से बरसात हो रही है तथा बादल छाए हुए हैं। उधर अरब सागर में कई बोट मछुआरों के फंसने की खबर है।  गुजरात के गिर सोमनाथ जिले में समुद्र में मछली पकड़ने गए कई मछुआरे नाव डूबने से लापता हो गए हैं। बताया जा रहा है कि भारी बारिश और तेज हवाओं के कारण कुछ नाव समुद्र में डूब गई हैं। 10-15 मछुआरों के लापता होने की सूचना है। सूत्रों के मुताबिक, इनमें से चार मछुआरे तट पर लौट आए हैं लेकिन अन्यों के बारे में हाल कोई पता नहीं चल पा रहा है।

किसानों के साथ मछुआरों की बढ़ी चिंता

उधर दक्षिण गुजरात के सूरत, भरुच, डांग, नर्मदा, नवसारी, वलसाड, तथा मध्य गुजरात के दाहोद, छोटा उदेपुर, वडोदरा में भी बरसात हुई। मौसम विभाग की चेतावनी के अनुसार उत्तर गुजरात में बनासकांठा, साबरकांठा, महीसागर के साथ मध्य दक्षिण गुजरात में भारी बारिश की आशंका है। बेमौसम बरसात के कारण किसानों की फसलों को तथा यार्ड में रखे अनाज के नुकसान होने की आशंका है। राज्य में अरहर दाल, केला, गन्ना, चना समेत अन्य कई फसलों को बरसात से नुकसान हो सकता है। गुजरात के उमरपाडा में सबसे अधिक 31 मिलीमीटर बरसात दर्ज की गई। जबकि अमरेली के खांभा गीर सोमनाथ जिले के उना में एक इंच बरसात हुई। बेमौसम हो रही बरसात ने किसानों के साथ मछुआरों की भी चिंता में इजाफा कर दिया है।

पांच दिन की चेतावनी जारी

जानकारी के अनुसार, गिर सोमनाथ में बीती रात से तेज हवाओं के साथ लगातार बारिश हो रही है. बुधवार को खराब मौसम के पूर्वानुमान के बाद मछुआरों को समुद्र में जाने की चेतावनी दी गई थी। महाराष्ट्र और गुजरात के तटीय इलाकों में बुधवार से बारिश हो रही है और मौसम विभाग ने भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है. इसके साथ मछुआरों के लिए पांच दिन की चेतावनी जारी की गई है।