अहमदाबाद | गुजरात में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए रेपिड एन्टीजन टेस्ट और आरटीपीसीआर टेस्ट नेगेटिव आने पर स्वाइन फ्लू का टेस्ट कराना अनिवार्य कर दिया गया है| दरअसल गुजरात में कोरोना केसों की लगातार बढ़ोत्तरी के बाद केन्द्र से आई टीम ने कई महत्वपूर्ण आदेश दिए थे| इसके अंतर्गत राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने रेपिड-आरटीपीसीआर नेगेटिव आने पर स्वाइन फ्लू का टेस्ट कराना होगा| इसके लिए गाइडलाइन जारी कर दी गई है| जिसके मुताबिक रेपिड टेस्ट नेगेटिव आने पर सिम्टोमेटिक मरीजों को आरटीपीसीआर टेस्ट कराना होगा| यदि वह नेगेटिव आता है तो स्वाइन फ्लू का टेस्ट कराना होगा| स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन के मुताबिक कोरोना पॉजिटिव मरीज के संपर्क हों ऐसे लोगों का 5 से 7 दिन रेपिड टेस्ट किया जाएगा| यदि उसमें कोई लक्षण पाए जाते हैं तो उसका आरटीपीसीआर टेस्ट कर और होम कोरन्टाइन कर रोज नियमित रूप से पैरा मेडिकल स्टाफ द्वारा उसका मोनिटरींग करना होगा| यदि कोरोना पॉजिटिव मरीज की तबियत बिगड़ती है तो उसे तत्काल अस्पताल में भर्ती कराना होगा| स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक पॉजिटिव मरीज के संपर्क में हों ऐसे सभी लोगों पर विशेष ध्यान रखा जाएगा| साथ ही मरीज के संपर्क में रहे लोगों को होम कोरन्टाइन किया जाएगा|