पटना. विधानसभा में चल रहे सत्र के दौरान तेजस्वी यादव (Tejasvi Yadav) ने कुछ ऐसा कह दिया कि सभी लोग अचरज में पड़ गए. दरअसल बेनीपुर के विधायक विनय चौधरी ने तेजस्वी की शिक्षा पर सवाल उठाया तो तेजस्वी ने उसका ऐसा जवाब दिया जो चौंकाने वाला था. तेजस्वी ने कहा कि मैं स्कूल में पढ़ा हूं और मेरी डिग्री फर्जी नहीं है. वहीं उन्होंने ये भी कहा कि मेरा तो जन्म ही चपरासी के फ्लैट में हुआ है.

दरअसल आज बिहार विधानसभा में शिक्षा विभाग के बजट पर चर्चा हो रहा था. बात बिहार की शिक्षा व्यवस्था की कि जा रही थी, लेकिन अचानक चर्चा चरवाहा विद्यालय पर शुरू हो गई शिक्षा विभाग के बजट पर बोलने के लिए खड़े हुए बेनीपुर विधायक विनय चौधरी ने अपनी बात चरवाहा विद्यालय और पहलवान विद्यालय से शुरू की. विनय चौधरी ने कहा लालू यादव ने अपनी सरकार में चरवाहा विद्यालय खुलवाया था, लेकिन उस विद्यालय में तेजस्वी यादव नही पढ़े. विनय चौधरी ने विधायक श्रेयसी सिंह को भी इसके लिए धन्यवाद दिया. उन्होंने सदन के अंदर इस बात का खुलासा किया कि तेजस्वी यादव सरकारी स्कूल या चरवाहा विद्यालय में न पढ़कर दिल्ली के बड़े कॉन्वेंट स्कूल में पढ़ाई की.

सत्ता पक्ष के विधायक के द्वारा चरवाहा विद्यालय का नाम लेने से विपक्ष के विधायकों ने अपना आपा खो दिया और और उन्होंने एक साथ खड़े होकर सरकार के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करनी शुरू कर दी. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव भी सदन में मौजूद थे, उन्हें भी अपनी पढ़ाई लिखाई पर सवाल खड़ा करना नागवार गुजर रहा था .सत्ता पक्ष के तंज पर तेजस्वी ने भी करारा जबाब देते हुए कहा कि उन्होंने स्कूल से पढ़ाई की है और उनकी डिग्री फर्जी नही है . तेजस्वी यादव के 7 बहने और बड़े भाई सभी लोगों ने लगभग सरकारी स्कूल में ही पढ़ाई की है .तेजस्वी ने यह भी कहा कि उनका तो जन्म ही पटना के वेटनरी कॉलेज स्थित चपरासी फ्लैट में हुआ है .

इससे पहले भी अल्पसंख्यक कल्याण और उर्दू के मुद्दे पर पक्ष विपक्ष के बीच काफी नोक झोंक हुई. विपक्ष ने अल्पसंख्यक कल्याण की योजनाओं पर सवाल उठाया और उसे लागू करने में सरकार को फेल बताया तो इस बात पर पक्ष भड़क गया. जदयू के तनवरी अख्तर ने सरकार का पक्ष लेते हुए तेजस्वी यादव को नौंवी फेल कह दिया. इस बात पर सदन में हंगामा हो गया.