पिछले कुछ सालों में, बेकरी उत्पादों के ग्राहकों में काफी तेजी से वृद्धि देखने को मिली है। इतना ही नहीं, कुछ घरों में तो सुबह की शुरूआत ही चाय व ब्रेड के साथ होती है। ऐसे में पेस्ट्री शेफ के क्षेत्र में अच्छी संभावनाएं बढ़ रही हैं। समय के साथ अनुभवी व अपने काम में माहिर पेस्ट्री शेफ यानी रसोइएं की मांग बढ़ती ही जा रही है।  शादी या पार्टियों में आज हर प्रकार के पकवानों का प्रचलन बढ़ा है। लजीज व्यंजनों के साथ साथ यदि आइसक्रीम और पेस्ट्री शामिल न हो तो पार्टी का मजा ही बिगड़ जाता है। ऐसा लगता है कि किसी चीज की कमी रह गई है। हर मौके पर व्यक्ति कुछ न कुछ मीठा खाने की चाह रखता है। शायद इसलिए जन्मदिन की पार्टी से लेकर शादी तक, मेहमानों के आने से लेकर त्योहारों तक कभी केक तो कभी पेस्ट्री आदि मंगाई जाती है। 
कैसे तैयार होती हैं केक और पेस्ट्री :   
एक पेस्ट्री शेफ का मुख्य काम स्वादिष्ट केक, पेस्ट्री, कुकीज और ब्रेड आदि को बेक करना होता है। होटल्स इत्यादि में उनकी खास जगह होती हैं। इतना ही नहीं, उनका काम प्रयोग कर कुछ ऐसा नया बेक करना होता है, जो दूसरों से एकदम हटकर व स्वादिष्ट हो। खासतौर से किसी भी बेकरी शॉप की पहचान उसके द्वारा खुद निकाली गई अनोखी रेसिपी से ही होती है। जिसे बनाने का काम एक पेस्ट्री शेफ का होता है।  
जरूरी दक्षता : 
इस क्षेत्र में सफलता प्राप्त करने के लिए आपका कलात्मक होना बेहद आवश्यक है। साथ ही आपको अपने काम से प्यार भी होना चाहिए, तभी आप कुछ नया व यूनिक बनाने में सक्षम हो पाएंगे। कभी-कभी सिर्फ आपकी इजाद की हुई अलग व अनोखी पेस्ट्री भी आपके कॅरियर को एक मीठा रूख दे सकती है। इन सबके अतिरिक्त एक अच्छी प्रेजेंटेशन खाने को और भी अधिक लाजवाब बनाती है, इसलिए उसमें खाने की प्रस्तुति करने का कौशल भी हो। खाना बनाते समय सिर्फ टेस्ट पर ही ध्यान नहीं देना होता बल्कि सेफ्टी व हाइजीन भी उतना ही जरूरी है। आपके अंदर कड़ी मेहनत करने की क्षमता व लगन होना भी बेहद आवश्यक है। आपका काम सिर्फ किचन तक ही सीमित नहीं है, आपको अपनी पहचान बनाने के लिए लोगों से भी जुड़ना पड़ता है, इसलिए आपके अंदर बेहतर संवाद शैली होने के साथ-साथ अपने ग्राहक को पूर्ण रूप से संतुष्ट करने की कला भी होनी चाहिए। एक पेस्ट्री शेफ को लगातार कई घंटों किचन में खड़े होना पड़ता है, ऐसे में आपका धैर्यवान होना भी आवश्यक है। किसी भी होटल या रेस्टोरेंट में ग्राहक के आर्डर के कुछ क्षण बाद ही उसका ऑर्डर टेबल पर आ जाता है, इसलिए आपको भी अपने काम में समय का पाबंद होना चाहिए। कोशिश करें कि जो केक ग्राहक तक पहुंचे, वह ताजा व ठंडा हो। इन सबसे अलग आपको सभी प्रकार के उपकरणों व अपने काम की बारीकियों का बेहतर तरीके से ज्ञान होना चाहिए।   
शैक्षणिक योग्यता :  
इस क्षेत्र में कदम रखने के लिए आपको 12वीं के पश्चात् बेकिंग व कन्फेक्शनरी में डिग्री या सर्टिफिकेट कोर्स करना बेहद आवश्यक है। तभी आपको बेकिंग, आईसिंग व डेकोरेटिंग आदि की जानकारी प्राप्त हो पाएगी। वैसे इस क्षेत्र में शॉर्ट टर्म या डिप्लोमा कोर्स भी कोर्स भी मौजूद हैं। इन कोर्स की अवधि 4 से 6 महीने तक हो सकती है और इसे आप 10वीं के बाद भी आसानी से कर सकते हैं।  
रोजगार के अवसर :  
पेस्ट्री शेफ के लिए होटल्स, रेस्टोरेंट व कैसीनो में काम की कोई कमी नहीं है। इसके अतिरिक्त विभिन्न बेकरीज व केटरर को भी हमेशा ही अनुभवी व प्रतिभाशाली पेस्ट्री शेफ की तलाश रहती है। अगर आपको कहीं नौकरी करना पसंद नहीं है तो आप खुद की भी बेकरी शॉप खोल सकते हैं, लेकिन उसके लिए आपको व्यापार संबंधी भी थोड़ा ज्ञान होना चाहिए। अगर आपका बजट कम है तो आप घर से भी पार्टी आदि के आर्डर लेकर उन्हें पूरा कर सकती हैं। एक बेहतरीन बेकर अपने लिए विदेशों में भी काम की तलाश कर सकता है।  
आमदनी का बेहतर जरिया : 
इस क्षेत्र में आपकी आय इस बात पर निर्भर करती है कि आप अपने काम में कितने माहिर हैं और लोगों को आपका बेक किया हुआ केक व पेस्ट्री कितना पसंद आता है। वैसे प्रारंभ में एक बेकर को दस से पंद्रह हजार आसानी से मिल जाते हैं। वहीं अनुभव बढ़ने के साथ-साथ उनकी आय में भी वृद्धि होती जाती है। एक अनुभवी बेकर की आमदनी 50000 से 60000 रूपए प्रतिमाह तक हो सकती है। वहीं यदि आप घर पर ही बेकिंग करते हैं तो आपकी आमदनी आपको मिलने वाले आर्डर पर निर्भर करेगी।  
कहां से कर सकते हैं ये कोर्स : प्रमुख संस्थान  
कुक एंड बेक अकादमी, दिल्ली। इंस्टीटयूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, फरीदाबाद, हरियाणा। इंस्टीटयूट ऑफ होटल मैनेजमेंट कैटरिंग व न्यूटिशन, नई दिल्ली। आईटीएम इंस्टीटयूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, महाराष्ट्र। पीपल्स यूनिवर्सिटी, भोपाल, मध्य प्रदेश।